मुम्बई-पुणे मनपा चुनाव एकसाथ लड़ेगी शिवसेना-राष्ट्रवादी?

पुणे: शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत ने राज्य में आगामी नगरपालिका चुनावों को लेकर एक महत्वपूर्ण बयान दिया है। यह चुनाव महाविकास अघाडी भाजपा के खिलाफ कैसे लड़ेगी इसकी जानकारी उन्होने दी। उन्होने कहा कि  यह तय है कि आगामी पुणे मनपा चुनाव हमें एकसाथ लड़ना है। शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस एकसाथ रहेंगे। उसमे कांग्रेस को कैसे शामिल करना है, इसकी हम चर्चा करेंगे।

संजय राउत ने कहा कि जिस शहर में जो पार्टी मजबूत है उस शहर में वो पार्टी आगे आये। मुंबई, कल्याण-डोंबिवली, संभाजीनगर, नासिक में शिवसेना अधिक शक्तिशाली है। शिवसेना की तुलना में अन्य पार्टियों की ताकत कम है।

पुणे, पिंपरी-चिंचवड कुछ ऐसे मनपा हैं जहाँ शिवसेना की तुलना में राष्ट्रवादी शक्तिशाली है। पुणे और पिंपरी-चिंचवाड़ में एकसाथ चुनाव कैसे लड़ना है इस बारे में हम अजित पवार से चर्चा करेंगे। अगर हम एक साथ चुनाव लड़ते हैं, तो हम निश्चित रूप से सत्ता परिवर्तन की दिशा में आगे बढ़ेंगे।

अभी गुप्त आपातकाल का दौर

इंदिरा गांधी ने उस समय खुले तौर पर आपातकाल की घोषणा की थी, लेकिन अभी गुप्त तरीके से आपातकाल लगाया गया है। आपातकाल के दौरान हो रहा था वही अभी हो रहा है। उस समय आपातकाल के दौरान सामाजिक और सिने जगत में विरोध हो रहा था। उस समय के सेलिब्रिटी एक राष्ट्रीय विचार के थे। वे प्रतिबद्ध थे। उनका संबंध स्वतंत्रता आंदोलन से था। उस समय के लोग सामाजिक गतिविधियों से बिल्कुल करीब से जुड़े थे। उनमें राष्ट्रीय चेतना का भाव था।

अब्दुल कलाम को अटल बिहारी वाजपेयी ने बनाया था राष्ट्रपति

चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने अब्दुल कलाम को राष्ट्रपति बनाया था। इस पर राऊत ने कहा कि अब्दुल कलाम को अटल बिहारी वाजपेयी और प्रमोद महाजन ने राष्ट्रपति बनाया था। अब्दुल कलाम को सभी का समर्थन था। मेरी जानकारी के अनुसार उस समय राष्ट्रीय राजनीति में मोदी नहीं थे। लेकिन कुछ लोग हर बात का श्रेय ले रहे है। लोग उनके इस तरह के जोक पर हसते हैं, लेकिन चंद्रकांत दादा का ज्ञान उनके ऊपर भारी पड़ा।

You might also like

Comments are closed.