बंगाल चुनाव में हिंसा : वोटिंग के दौरान हिंसा, फायरिंग में 4 लोगों की मौत

कोलकाता : ऑनलाइन टीम – पश्चिम बंगाल में आज तीसरे चरण के तहत 44 विधानसभा सीटों के लिए वोट डाले जा रहे हैं। इसके तहत दक्षिण बंगाल के हावड़ा (भाग दो), दक्षिण 24 परगना (भाग तीन), हुगली (भाग दो) और उत्तर बंगाल के अलीपुरद्वार तथा कूचबिहार में 1,15,81,022 मतदाता 373 उम्मीदवारों के भविष्य का फैसला करेंगे। मतदात शुरू होने से पहले बीजेपी उम्मीदवार पायल सरकार ने कहा कि उनकी सीट पर 50 फीसद से अधिक महिला मतदाता है और उन्हें उम्मीद है कि जीत उनकी ही होगी।

इस बीच पश्चिम बंगाल में चौथे चरण के मतदान के बीच कई जगहों से हिंसक झड़प की खबरें आईं। कूचबिहार के सितालकुची में बीजेपी और टीएमसी के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। इस झड़प में कई लोग घायल हो गए। पुलिस ने लाठीचार्ज कर किसी तरह हालात पर काबू पाया। वहीं बूथ नंबर 285 में मतदान केंद्र के बाहर बम फेंके गए और गोलीबारी हुई। पोलिंग बूथ के बाहर फायरिंग में वोट डालने आए युवक की मौत हो गई।

इस बीच बंगाल पुलिस ने दावा किया है कि केंद्रीय बलों की फायरिंग में कूचबिहार में चार लोगों की मौत हो गई। आज सुबह 10 बजे के आसपास सितालकुची में घटना तब हुई जब क्विक रिस्पांस टीम (क्यूआरटी) पर मतदान क्षेत्र का चक्कर लगाते हुए उपद्रवियों द्वारा कथित रूप से हमला किया गया। बताया गया कि उपद्रवियों ने क्यूआरटी के वाहन को नुकसान पहुंचाया, जिसके बाद सुरक्षाकर्मियों द्वारा कई राउंड फायर किए गए। जिसमें 4 लोगों की जान चली गई। वहीं, TMC ने दावा किया है कि बूथ नंबर 5/126 पर हुई इस घटना में हमीदुल हक, मनीरूल हकम समीयुल हक और अजमद हुसैन की मौत हुई है।

दूसरी ओर, चुनाव आयोग ने इस मामले में रिपोर्ट तलब की है। टीएमसी समर्थकों का आरोप है कि केंद्रीय वाहिनी (CISF) की गोली से इन युवकों की मौत हुई है। मृतकों के शव माथाभांगा अस्पताल में हैं और इलाके में तनाव है। चुनाव आयोग से मिली रिपोर्ट के अनुसार गोली सीआईएसएफ के जवान ने चलायी है।

You might also like

Comments are closed.