चाइल्ड पोर्नोग्राफी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल, पहला केस दर्ज

औरंगाबाद : समाचार ऑनलाइन – चाइल्ड प्रोर्नोग्राफी पर प्रतिबंद होते हुए भी सिडको, सातारा और छावनी परिसर के बच्चों के लैंगिक शोषण का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने से खलबली मच गई है. इस मामले में वीडियो अपलोड करने वाले फेसबुक प्रोफाइल पर पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया गया है. दिल्ली की नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की पहल पर शहर में पहली बार यह कार्रवाई हुई है.

18 दिसंबर 2019 को कानूनी कार्रवाई के निर्देश दिए गए
बाल लैंगिक शोषण का वीडियो एक व्यक्ति ने फेसबुक सहित अन्य सोशल मीडिया पर वायरल किया था. यह चौंकाने वाली घटना सामने आने के बाद दिल्ली की नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो ने इस संदर्भ में महाराष्ट्र के साइबर क्राइम के विशेष पुलिस महानिरीक्षक से संपर्क साधते हुए इस मामले में 18 दिसंबर 2019 को कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश दिया था. इसके अनुसार राज्य की सभी साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में केस दर्ज करने का आदेश दिया था. 30 मार्च 2019 को शहर के सिडको सीमा में चाइल्ड पोर्नोग्राफी का वीडियो और दिसंबर महीने में सातारा में फेसबुक पर लोड किए जाने की जानकारी सामने आई है. जिस व्यक्ति ने बाल लैंगिक शोषण से जुड़ा वीडियो वायरल किया है उसके कम्प्यूटर की आईपी एड्रेस या इस्तेमाल किए गए मोबाइल सिम का कार्ड क्रमांक पर सातारा, छावनी और सिडको के संबंधित पुलिस स्टेशनों में केस दर्ज किया जा रहा है.

एनसीआरबी ने सीडी तैयार किया है
विदेशों में चाइल्ड पोर्नोग्राफी पर प्रतिबंध लगा हुआ है. उसी तरह से देश में इस पर प्रतिबंध लगा हुआ है. इस दिशा में सख्त कदम उठाये जाने की जानकारी पुलिस इंस्पेक्टर कैलाश देशमाने ने दी है. बच्चों के लैंगिक शोषण के संदर्भ में सोशल मीडिया पर अश्लील व विभत्स वीडियो वायरल किया जा रहा है. नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो ने इस संदर्भ में वीडियो सीडी तैयार किया है. इस मामले में आरोपियों के बारे में जानकारी सामने नहीं आये इसलिए विशेष ध्यान रखा जा रहा है.

visit : punesamachar.com

Comments are closed.