University Grants Commission | देश के 24 यूनिवर्सिटी फर्जी, उत्तर प्रदेश पहले नंबर पर ; महाराष्ट्र की एक यूनिवर्सिटी भी शामिल 

नई दिल्ली (New Delhi), 3 अगस्त : यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (University Grants Commission) ने देश के 24 स्वघोषित यूनिवर्सिटी के फर्जी होने की घोषणा की है। (यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन) दो यूनिवर्सिटी दवारा नियमों का उल्लंघन किये जाने की जानकारी केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Union Minister Dharmendra Pradhan) ने दी है।  लोकसभा (Lok Sabha) में पूछे गए एक सवाल के जवाब में धर्मेंद्र प्रधान ने यह जानकारी दी।

 

उन्होंने कहा कि विधार्थी, पालक, नागरिक और मीडिया से मिली शिकायत के आधार पर यूजीसी ((University Grants Commission)) ने 24 यूनिवर्सिटी (University) को फ़र्ज़ी घोषित किया  है। इसके अलावा लखनऊ के भारतीय शिक्षा परिषद् (Indian Council of Education) और नई दिल्ली के इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ प्लानिंग एंड मैनेजमेंट (Indian Institute of Planning and Management) दवारा यूजीसी के नियमों का उल्लंघन किये जाने की जानकारी सामने आई है।  इन दोनों संस्थाओं का मामला कोर्ट में है।
सबसे अधिक फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी (fake university) के मामले में उत्तर प्रदेश पहले नंबर पर है। उत्तर प्रदेश में 8 जबकि दिल्ली में 7 फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी है। उड़ीसा और बंगाल में 2-2, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, पोंडिचेरी में एक-एक यूनिवर्सिटी फ़र्ज़ी है।  महाराष्ट्र (Maharashtra) में फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी नागपुर में है जिसका नाम राजा अरेबिक यूनिवर्सिटी है।

 

 

Lockdown Relaxation | मुंबई के लिए अलग न्याय और पुणे के लिए अलग न्याय ? ; पुणे के महापौर का राज्य सरकार से सवाल

Road Accident in Solapur | सोलापुर के सांगोला में भीषण दुर्घटना ; घटना में तीन लोगों की मौके पर ही मौत, 9 जख्मी