Union Budget 2019: बजट में बड़ा ऐलान, तीन करोड़ कारोबारियों को मोदी सरकार देगी पेंशन, बस दिखाने होंगे ये डॉक्यूमेंट

 

बजट पेश करने के दौरान वित्त मंत्री सीता रमण ने प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन पेंशन योजना का ऐलान कर दिया. 1.5 लाख सालाना कमाने वाले कारोबारियों को इस योजना के तहत लाभ दिया जाएगा. इनमें मिड-डे मील वर्कर, स्ट्रीट वेंडर, हेड लोडर, ईंट भट्ठा वर्कर, रिक्शा चालक, कॉबलर, रैग पिकर, घरेलू कामगारकंस्ट्रक्शन वर्कर नाम शामिल.

समाचार ऑनलाइन –  मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले बजट में देश के कारोबारियों को पेंशन का लाभ दिए जाने का ऐलान कर दिया गया है. बजट पेश करने के दौरान वित्त मंत्री सीता रमण ने प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन पेंशन योजना का ऐलान कर दिया. 1.5 लाख सालाना कमाने वाले कारोबारियों को इस योजना के तहत लाभ दिया जाएगा. बजट में बताया गया है कि प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन पेंशन योजना का लाभ देश के तीन करोड़ दुकानदारों को होगा. इस योजना की खास बात ये है कि इसके लिए सिर्फ आधार और पैन कार्ड देने की जरूरत होगी.

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों के रिटायरमेंट की सेफ्टी और सामाजिक सुरक्षा के लिए है. इस योजना का लाभ रिक्शा चालक से लेकर कंस्ट्रक्शन वर्कर तक के लोगों को शामिल किया जाएगा. इस योजना का लाभ जिन लोगों को मिलेगा उसमें मिड-डे मील वर्कर, स्ट्रीट वेंडर, हेड लोडर, ईंट भट्ठा वर्कर, रिक्शा चालक, कॉबलर, रैग पिकर, घरेलू कामगार, वॉशर मैन, घर-घर काम करने वाले, खुद के अकाउंट वर्कर, एग्रीकल्चर वर्कर, कंस्ट्रक्शन वर्कर शामिल हैं.

किन लोगों को मिलेगा स्कीम का लाभ

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के अनुसार, इस स्कीम का लाभ उठाने के लिए असंगठित क्षेत्र का श्रमिक होना जरूरी है. यही नहीं इस योजना का लाभ उसे ही मिलेगा जिसकी उम्र18 से 40 वर्ष के बीच होगी. यही नहीं इस योजना का लाभ उसे ही मिलेगा जिसकी मासिक आय 15,000 रुपये या उससे कम होगी.

इस योजना का लाभ उठाने के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट

– आधार कार्ड

– सेविंग बैंक अकाउंट

– पैन कार्ड

– जन धन अकाउंट साथ में आईएफएससी नंबर

You might also like

Comments are closed.