जयपुर में आभूषण कारोबारी के घर में सुरंग, 15 बोरों में मिले सोने-चांदी के गहने और एंटीक सामान

जयपुर. ऑनलाइन टीम : काली कमाई और अघोषित संपत्ति को लेकर आयकर विभाग की कार्रवाई में कई हैरतअंगेज मामले सामने आते हैं। ऐसा ही एक मामला जयपुर में सामने आया है। आयकर विभाग ने एक सर्राफा फर्म व दो रियल एस्टेट डेवलपर्स के 31 ठिकानों पर छापे मारकर व सर्वे अभियान चलाकर 1400 करोड़ रुपये से ज्यादा की अघोषित कमाई पकड़ी है। तीनों के ही यहां अपने मुख्य व्यापार के अलावा बड़े पैमाने पर नकद कर्ज देकर सूद के जरिये कमाई करने के भी सबूत मिले हैं।

कार्रवाई में आभूषण कारोबारियों के तीन समूहों (चौरड़िया ग्रुप, गोकुल ग्रुप और सिल्वर ग्रुप) के पास करीब 1400 करोड़ रुपए की अघोषित आय उजागर हुई है। इस कार्रवाई में चौंकाने वाली बात ये रही कि ज्वेलरी व्यवसायी के घर पर आयकर विभाग को एक सुरंगनुमा तहखाना मिला है, जिसमें 15 बोरों में आर्ट ज्वेलरी व एंटीक सामान और लेनदेन व संपत्तियों के दस्तावेज मिले हैं।

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के मुताबिक,  सर्राफा फर्म अपनी अघोषित आय को कर्मचारियों के बैंक खातों के जरिये इधर से उधर घुमा रही थी। शुरुआती पूछताछ में पहले तो किसी भी स्टॉक रजिस्टर के होने से मना कर दिया। जांच टीम को मगर विश्वास नहीं हो रहा था। इसलिए तलाशी अभियान शुरू हुई। टीम यह देख आवाक रह गई कि घर में ही सुरंग बना हुआ था। वहां बहुत सारे सामान रखे हुए थे।  सभी सामानों पर अल्फा-न्यूमेरिक सीक्रेट कोड में वास्तविक बिक्री मूल्य लिखा था।

टीम कोड को क्रैक करने पर काम कर रही है। सुरंग के अन्दर से दो हार्ड-डिस्क और पेन-ड्राइव भी मिलीं हैं। जिनमें कोड के रूप में विभिन्न वस्तुओं का विवरण था।  कुल 15 बोरों में ये सामान रखे गए थे।  सोने और चांदी के आभूषण, एंटीक सामान, आर्ट ज्वेलरी के अलावा बेनामी संपत्ति से संबंधित दस्तावेज भी मिले हैं।

You might also like

Comments are closed.