Loading...

ट्रंप ने उस चुनाव अधिकारी को हटाया, जिसने वोटों में धांधली का खंडन किया था 

Loading...

वाशिंगटन. ऑनलाइन टीम : अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव समाप्त हो चुका है, लेकिन रार अभी नहीं थमी है। ट्रंप अब तक अपनी हार को स्वीकार करने से लगातार इनकार कर रहे हैं और बिना कोई सबूत दिए मतदान में ‘बड़े पैमाने पर’ धोखाधड़ी होने के दावे कर रहे हैं।  दूसरी तरफ,  चुनाव अधिकारियों ने इस चुनाव को अमेरिकी इतिहास का ‘सबसे सुरक्षित’ चुनाव बताया है, लेकिन अब ट्रंप को गलत और चुनाव को सही ठहराने वाले अधिकारियों पर गाज गिरने लगी है। ‘साइबरसिक्योरिटी एंड इंफ्रास्ट्रक्चर सिक्योरिटी एजेंसी’ (सिसा) के प्रमुख क्रिस क्रेब्स को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मतदान में धांधली के दावों का खंडन करने के लिए निकाल दिया गया है।

Loading...

बता दें कि क्रेब्स अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा अपनी (ट्रंप) हार के बाद बर्खास्त किए जाने वाले नवीनतम अधिकारी हैं। रक्षा मंत्री मार्क एस्पर को भी ट्रंप ने पेंटागन प्रमुख के रूप में उनकी वफादारी पर संदेह के बीच निकाल दिया था।  अटकलें हैं कि ट्रंप के जनवरी में पद छोड़ने से पहले, सीआईए निदेशक जीना हसपेल और एफबीआई निदेशक क्रिस्टोफर रे को भी बाहर का रास्त दिखाया जा सकता है। हालांकि, बर्खास्तगी के बावजूद क्रेब्स को अपनी राय रखने को लेकर कोई अफसोस नहीं है। क्रेब्स ने ट्वीट किया था, “चुनाव प्रक्रिया के साथ छेड़छाड़ के आरोपों के बारे में 59 चुनाव सुरक्षा विशेषज्ञों की एक राय है कि ऐसे हरेक मामले में जिनकी हमें जानकारी है, ये दावे या तो निराधार हैं या तकनीकी तौर पर उनका कोई मतलब नहीं समझ जाता।”

Loading...

इस बीच, खबर है कि डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी चुनावों में इस्तेमाल किए जाने वाले इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग सिस्टम की आलोचना करते हुए कहा है कि इसकी वजह से उन्हें लाखों वोटों का नुक़सान हुआ। ये वोटिंग मशीनें डोमिनियन वोटिंग सिस्टम्स नाम की कंपनी बनाती है। ट्रंप ने तरह-तरह के आरोप लगाए हैं, जैसे इन मशीनों से वोट डिलीट कर दिए गए और उनके विरोधियों ने कंपनी पर अनुचित प्रभाव डाला है। पलटवार करते हुए कंपनी के अध्यक्ष लैरी रोसीन ने कहा, वोटिंग में धोखाधड़ी के ऐसे कोई कोई सबूत नहीं हैं।

दरअसल, ट्रंप और उनके समर्थक फॉक्स न्यूज़ की एक रिपोर्ट को भी शेयर कर रहे हैं, जिसमें एंकर शॉन हेनिटी का दावा है कि डोमिनियन वोटिंग मशीनों ने महत्वपूर्ण राज्यों में ट्रंप के वोटों को बाइडन के वोटों में बदल दिया। इस रिपोर्ट में मिशिगन की एंट्रिम काउंटी क्षेत्र में आई दिक्कतों के बारे में बताया गया जहां डोमिनियन मशीनें इस्तेमाल की गई थी। दावा किया गया कि इसी तरह दूसरी काउंटी में भी सॉफ्टवेयर में समस्या हो सकती है।

Loading...

Comments are closed.