राष्ट्रवादी के कार्याध्यक्ष के बहन- भांजे भी भाजपा में 

विधायक लक्ष्मण जगताप ने दिया बड़ा झटका

पिंपरी : समाचार ऑनलाईन – विधानसभा चुनाव से पहले ही भाजपा ने पिंपरी चिंचवड़ में दोफाड़ की सियासत शुरू कर दी है। ऐसा नहीं है कि भाजपा के पास शहर के तीन विधानसभा क्षेत्रों में प्रत्याशी नहीं है, मगर राष्ट्रवादी के नेताओं और उनके करीबियों को भाजपा में शामिल कर राष्ट्रवादी को झटका देने की नीति अपनाई है। इसकी शुरूआत भाजपा के शहराध्यक्ष व विधायक लक्ष्मण जगताप ने कर दी है। रविवार को उन्होंने राष्ट्रवादी को बड़ा झटका देते हुए पार्टी के कार्याध्यक्ष व पिंपरी चिंचवड़ मनपा की स्थायी समिति के भूतपूर्व सभापति प्रशांत शितोले की चचेरी बहन और भांजे को भाजपा में शामिल कर लिया। यह आनेवाले दिनों में शहर में होनेवाले सियासी भूकंप का आगाज़ माना जा रहा है।
दो सवा दो माह की दूरी पर विधानसभा चुनाव है, भाजपा इस बार फिर महाराष्ट्र विधानसभा पर परचम लहराने की तैयारी में है। पिंपरी चिंचवड़ के तीन विधानसभा चुनाव क्षेत्रों में से पिंपरी विधानसभा चुनाव क्षेत्र में शिवसेना का विधायक है। हालांकि तीनों विधानसभा चुनाव क्षेत्रों में भाजपा के पास तगड़े प्रत्याशी है। इसके बावजूद भाजपा ने शहर में दोफाड़ की सियासत शुरू कर दी है, उसमें भी उसकी रडार पर ज्यादातर राष्ट्रवादी कांग्रेस है। यह केवल राष्ट्रवादी की ताकत को क्षीण करने और उसे झटके देने की नीति भाजपा ने अपनाई है।
भाजपा के शहराध्यक्ष व विधायक लक्ष्मण जगताप ने अपने निर्वाचन क्षेत्र को ‘सेफ’ बनाने के लिए यह नीति अपनानी शुरू कर दी है। यूं तो उन्हें चिंचवड़ विधानसभा क्षेत्र में कोई खास खतरा नहीं है, मगर खुद को ‘सेफ’ करना और राष्ट्रवादी को झटका देना उनका असल मकसद है। इस कड़ी में उन्होंने राष्ट्रवादी के कार्याध्यक्ष व स्थायी समिति के भूतपूर्व सभापति प्रशांत शितोले, जोकि उनके चेले रहे हैं, की चचेरी बहन पुष्पा निंबालकर औऱ भांजा करण निंबालकर को आज भाजपा में शामिल कर लिया। विधायक जगताप के पिंपलेगुरव स्थित जनसंपर्क कार्यालय में यह प्रवेश का कार्यक्रम हुआ। यह राष्ट्रवादी के लिए एक झटका माना जा रहा है साथ ही इसे विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सियासी भूकंपों के आगाज की तौर पर देखा जा रहा है।

Comments are closed.