जमीन बेचने के लिए दबाव बनाते हुए थाने में ही की मारपीट

खरीदीखत पर जबरन लिए हस्ताक्षर; खेड़ तालुका की वारदात

पिंपरी। बाजारभाव से कम दाम में जमीन बेचने के लिए दबाव बनाते हुए एट्रोसिटी का मामला दर्ज करने की धमकी देकर पुलिस थाने में ही तीन लोगों के साथ मारपीट की गई। करीबन 25 लोगों की भीड़ ने मारपीट करने के साथ ही रजिस्ट्रार ऑफिस में पीड़ितों से खरीदीखत पर जबरन हस्ताक्षर भी कराए। पुणे जिले के खेड़ तालुका स्थित पुलिस थाने और रजिस्ट्रार ऑफिस में यह घटना घटी है।

इस वारदात में सुदाम मटलामल नारंग (58, निवासी सोपानबाग, पुणे), संदीप भोगीलाल शहा, नरेंद्र रीखबदास संचेती नामक लोगों के साथ मारपीट की गई। इस बारे में सुदाम नारंग ने खेड़ पुलिस थाने ने रिपोर्ट दर्ज कराई है। इसके अनुसार पुलिस ने संतोष घनश्याम डोलस (निवासी चांडोली, खेड, पुणे), उसकी पत्नी, बहन और अन्य 20 से 22 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। यह घटना दिसंबर 2019 से 30 दिसंबर 2020 के बीच घटी है।

पुलिस के अनुसार, नारंग ने संदीप शहा व अपूर्व शहा के साथ मिलकर खेड तालुका के चांडोली में एक जमीन खरीदी थी। इस जमीन में से आने- जाने के रास्ते के लिए उन्होंने संतोष डोलस के परिवार से साढ़े सात लाख रुपए रास्ते के अधिकार खरीदे थे। इसके बाद नारंग ने एक जमीन में प्लॉटिंग कर उसकी बिक्री की। इसके बारे में पता चलने के बाद संतोष डोलस ने जमीन बिक्री रद्द कर वह जो बोलेगा उसी दाम में उसे बेचने के लिए एट्रोसिटी का मामला दर्ज करने की धमकी दी।

आरोपी डोलस ने इस बारे में नारंग और उनके साथियों के खिलाफ एट्रोसिटी के तहत मामला दर्ज करने के लिए शिकायत अर्जी भी राजगुरुनगर पुलिस थाने में दी। इसके अनुसार पुलिस ने नारंग, शहा, संचेती को बयान देने के लिए बुलाया। जब वे थाने गए तब आरोपियों ने भीड़ जुटाकर तीनो के साथ थाना परिसर में ही मारपीट की। जान के भय से नारंग बची हुई जमीन डोलस के नाम पर करने के लिए तैयार हो गए। दिसंबर 2020 में डोलस, महिला और एक पुलिसकर्मी के साथ शहा के सदाशिव पेठ स्थित दफ्तर गए। उन्होंने अपने साथ खरीदीखत भी बनाकर लाया था, उस पर शहा और नारंग के हस्ताक्षर लिए। साथ ही जब भी बुलाया जाएगा तब रजिस्ट्रार ऑफिस आने के लिए जान से मारने को लेकर धमकाया। बहरहाल खेड़ पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है।

You might also like

Comments are closed.