हितेश मूलचंदानी मर्डर केस का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

पिंपरी : समाचार ऑनलाईन – होटल के बाहर हुए मामूली विवाद में हितेश गोवर्धनदास मूलचंदानी (23, निवासी बी ब्लॉक, पिंपरी कैम्प, पुणे) नामक युवक को अगवा कर उसकी निर्मम हत्या की वारदात के मुख्य आरोपी पर अंततः पुलिस ने शिकंजा कस ही लिया। शाहबाज सिराज कुरेशी निवासी कासारवाडी, पुणे नामक इस आरोपी को पिंपरी चिंचवड़ पुलिस की क्राइम ब्रांच यूनिट 2 की टीम ने कल्याण से गिरफ्तार किया है। इस मामले में अब तक कुल पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर एक नाबालिग उम्र के लड़के को भी हिरासत में लिया गया है। 
Loading...
पुलिस ने इस वारदात में इस्तेमाल की गई सुमो जीप को भी बरामद कर लिया गया है। यह जीप भी चोरी की है, ऐसा पुलिस की जांच में सामने आया है। गिरफ्तार आरोपियों में अक्षय संजय भोसले उर्फ लिंगा (25) निवासी शितोलेनगर, सांगवी, पुणे और योगेश विट्ठल टोनपे उर्फ लंगड़ा (20) निवासी जगताप चाल, पिंपले गुरव, पुणे, अमीन फिरोज खान निवासी मोमिनपुरा, गंजपेठ, पुणे, अरबाज मुन्ना शेख (20, निवासी खड़की, पुणे)  शामिल हैं। शहबाज कुरैशी अब तक फरार चल रहा था, उसे भी कल्याण से गिरफ्तार कर लिया गया।
क्या है पूरी वारदात
सभी आरोपी पुणे के प्यासा होटल में शराब पीने के बाद लिंगा और लंगड़ा को छोड़ने सांगवी आए। यहां उन्हें फिर तलब लगी औऱ वे पिंपरी में शराब पीने आये। पिंपरी स्टेशन के पास कुणाल होटल के सामने अमीन को पेशाब करने से मना करने पर होटल मालिक साहिल ललवानी और आरोपियों के बीच विवाद हुआ। अमीन ने होटल के कर्मचारी कैलाश पाटिल के सिर पर बियर की बोतल दे मारी। इसके बाद होटल के कर्मचारियों ने आरोपियों पर हमला बोल दिया और अमीन को पकड़ लिया। हड़बड़ाकर बाकी आरोपी भाग निकले। इस दौरान घटना की जानकारी मिलते ही होटल मालिक का चचेरा भाई लखन सुखेजा अपने दोस्त हितेश मूलचंदानी के साथ यहां पहुंचा। तब शहबाज भागने की कोशिश में था। हितेश ने उसे पकड़ लिया और लखन होटल के कर्मचारियों को बुलाने गया। इस दौरान उनके भागे हुए साथी वापस आये और उन्होंने हितेश को मारपीट कर उसे जबरन जीप में बिठाया और उसे ले गए। गाड़ी में छीनाझपटी के दौरान शहबाज ने चाकू से हितेश का गला काट दिया और उसे सूमो के पीछे हिस्से में डाल दिया। इस दौरान उन्होंने अमीन के फोन से होटल के कर्मचारियों से संपर्क किया और अमीन को छोड़कर हितेश को ले जाने के लिए कहा। पहले उन्होंने कालेवाडी के पाचपीर चौक बाद में पिंपले गुरव रोड पर स्वराज गार्डन होटल के पास बुलाया। जब लखन और उसके दोस्त वहां पहुंचे तब वहां कोई नहीं मिला। अमीन को छुड़ाने का प्लान फंसने के बाद आरोपियों ने पिंपरी चिंचवड़ मनपा मुख्यालय के पीछे वरदहस्त सोसाइटी से सटे सुनसान रोड पर ले जाकर हितेश की लाश को फेंक दिया। इस बारे में होटल मालिक रोहित किशोर सुखेजा (26) निवासी एचबी ब्लॉक, शनि मंदिर के पास, पिंपरी ने शिकायत दर्ज कराई है।
You might also like

Comments are closed.