Loading...

साल 2019 का आखिरी सूर्य ग्रहण, इन राशियों पर पड़ेगा असर

Loading...

मुंबई : समाचार ऑनलाइन – साल 2019 का आखिरी सूर्य ग्रहण आज यानी 26 दिसंबर को लगा है। यह पूर्ण सूर्य ग्रहण नहीं होगा। इस बार चंद्रमा की छाया सूर्य का पूरा भाग नहीं ढक पाएगी।  इस ग्रहण में सूर्य का बाहरी हिस्सा प्रकाशित रहेगा। जानकारी के मुताबिक, यह ग्रहण धनु राशि और मूल नक्षत्र में होगा। सूर्य के साथ केतु, बृहस्पति और चंद्रमा आदि ग्रह होने से ज्योतिष में इस कल्याणकारी योग का विशेष लाभ मिलेगा। भारत में सुबह 8 बजकर 4 मिनट से ग्रहण दिखेगा।

Loading...

साल के इस आखिरी सूर्य ग्रहण को वैज्ञानिकों ने ‘रिंग ऑफ फायर’ का नाम दिया है। बता दें कि इससे पहले इस साल 6 जनवरी और 2 जुलाई को आंशिक सूर्य ग्रहण लगा था। साल का तीसरा और अंतिम सूर्य ग्रहण है। कुल साढ़े 3 घंटे तक लगनेवाले इस ग्रहण की शुरुआत भारत में सुबह 8 बजकर 4 मिनट पर होगी, जबकि बिहार में 8 बजकर 17 मिनट पर इसका आंशिक असर देखने को मिलेगा।

इन देशों में भी दिखेगा असर –
इस सूर्यग्रहण का भारत समेत नेपाल, चीन, ऑस्ट्रेलिया समेत कई देशों पर असर दिखाई देगा। पटना के श्रीकृष्ण विज्ञान केंद्र के खगोलविद विश्वनाथ गुप्ता की मानें तो भारत में सबसे ज्यादा असर केरल समेत दक्षिण भारत के कई राज्यों में यह दिखाई देगा।

ग्रहण के दौरान खाने से बचे –
ज्योतिषाचार्य पुनित आलोक छवि के अनुसार, सूर्यग्रहण सुबह 8 बजकर 17 मिनट से शुरू होकर 11 बजकर 47 मिनट पर समाप्त होगा। उन्होंने खाने-पीने की चीजों से दूर रहने की सलाह दी है। साथ ही ग्रहण काल के दौरान शुभ और मंगल कार्य से परहेज रखने की भी सलाह दी है।

सूर्यग्रहण का राशियों पर प्रभाव –

मेष – नौकरी व्यवसाय में उन्नति का योग रहेगा।

वृष – आत्मविश्वास से परिपूर्ण रहेंगे और समस्याओं का समाधान होगा। मिथुन- नौकरी में तरक्की, नए व्यवसाय का आरंभ, अचानक धनागम।

Loading...

कर्क – मानसिक परेशानी, माता-पिता का सहयोग, भवन का सुख मिलेगा।

सिंह – अतिउत्साह से बचें, मित्र, बंधु-बांधव से मतभेद हो सकता है, समान परिवर्तन का योग।

कन्या – कारोबार की स्थिति में सुधार, पुराने मित्र के सहयोग से धनागम का सुख मिल सकता है।

तुला – क्रोध की अधिकता रहेगी, कार्य क्षेत्र में परिवर्तन अनुकूल रहेगा।

वृश्चिक – आत्मविश्वास में कमी होगी, कारोबार में कठिनाई हो सकती है, धार्मिक यात्रा का योग।

धनु – धैर्यशीलता की कमी रहेगी, एक से अधिक कार्य में प्रवीणता और सफलता मिलेगी, नए भवन का योग बनता है।

मकर – पारिवारिक जीवन में चली आ रही परेशानियां समाप्त होंगी, संतान की ओर से सुखद समाचार मिलेगा।

कुंभ – माता के स्वास्थ्य में विकार हो सकता है, नए भवन और भूमि का लाभ हो सकता है।

मीन – नौकरी में नई जिम्मेदारियां मिलेंगी, परिश्रम अधिक करना पड़ेगा।

Loading...

Comments are closed.