10 करोड़ के प्राचीन सिक्के होने की बात कह कर बेचने की कोशिश करनेवाली टोली गिरफ्तार

पिंपरी: ऑनलाइन टीम- प्राचीन काल के धातु के सिक्के में हाई इरीडीयम नाम का केमिकल है, इसकी कीमत बाजार में 10 करोड़ है ऐसा कहकर उसकी बिक्री करने की कोशिश करनेवाली टोली को निगड़ी पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

हरीष परशुराम पाटिल (उम्र 68, नि. औरंगाबाद), संजय अर्जुन कुचेकर (उम्र 42, नि. खराड़ी चंदनगर), सुजीत राजेंद्र सारफले (उम्र 21, नि. उस्मानाबाद), प्रमोद रामचंद्र बचाटे (उम्र 40, नि. उस्मानाबाद),राजेश विजयकुमार गोवर्धन (उम्र 41, नि. उस्मानाबाद), ज्योतीराम भीमराव पवार (उम्र 44), रत्नाकर विजय सावंत (उम्र 43), किशोर ज्ञानेश्वर भगत (उम्र 36, नि. डोंबीवली), इम्रान हसन खान (उम्र 43, नि. शिवाजीनगर, गोवंडी) को गिरफ्तार किया गया है।

इस मामले में पुलिस नाईक कंठय्या गुरय्या स्वामी (उम्र 35) ने निगड़ीपुलिस के पास शिकायत दी। आरोपी ने होमगार्ड के रूप में काम करनेवाले वैभव तावरे को कहा कि प्राचीन काल के धातु के लिबो क्वाइन है, इसमे हाइ इरीडीयम नाम का केमिकल है। इसका बाजार भाव 10 करोड़ रुपये है। हमारे पास ऐसे सिक्के हैं। तुम्हें चाहिए तो कम कीमत पर देता हूँ। इसके अनुसार तावरे ने उससे बात कर के सौदा पक्का किया। यह जानकारी उसने निगड़ी पुलिस को दी। उसके बाद सिक्के देने के लिए उसे गुरुवार दोपहर को आकुर्डी स्थित गणेश विजन के सामने खंडोबा माल की ओर चिंचवड को जानेवाले रास्ते पर बुलाया। तय जगह पर यह गैंग 2 कार में आई। तावरे जब उन्हे पैसे दे रहा था तभी पुलिस ने छापा मारकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

इन आरोपियों के पास से 7 लाख रुपये नकद, एक प्राचीन काल का सिक्का, 1 लाख 19 हजार 500 रुपये का मोबाईल व 8 लाख 50 रुपये के दो कार जब्त किए गए।

You might also like

Comments are closed.