Tata Motors पर गिरी Lockdown की गाज, पुणे प्‍लांट में 30 अप्रैल तक काम बंद

पुणे : ऑनलाइन टीम – राज्य में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए लगाए गए सख्त प्रतिबंध की अमलबाजी कठोर तरीके से की जाए। साथ ही भीड़ होने पर अत्यावश्यक सेवा भी बंद करें, यह निर्देश मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य के जिलाधिकारी-पुलिस प्रशासन को दिए हैं। पिछले वर्ष हमने कोरोना पर काबू करने में काफी हद तक सफलता प्राप्त की थी, लेकिन अभी की परिस्थिति बहुत ही मुश्किल और चुनौतियों से भरी हुई है।

इधर टाटा मोटर्स ने 15 अप्रैल से महाराष्‍ट्र के पुणे स्थित संयंत्रों में वाहन उत्‍पादन पर रोक लगा दी है। कंपनी ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच महाराष्‍ट्र सरकार द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों का पालन करने के लिए पुणे स्थित सभी विनिर्माण संयंत्रों को 30 अप्रैल तक बंद रखने का निर्णय लिया गया है। जानकारी के मुताबिक, टाटा मोटर्स ने पुणे के भोसारी एमआईडीसी पुलिस स्‍टेशन को लिखे एक पत्र में कहा है कि महाराष्‍ट्र सरकार द्वारा कोविड-19 को नियंत्रित करने के लिए लागू लॉकडाउन का पालन करने के लिए हमनें 15 अप्रैल से 30 अप्रैल तक वाहन विनिर्माण को रोक दिया है। हमारे सभी कर्मचारियों को घर पर ही रहने की सलाह दी गई है।

टाटा मोटर्स पहली ऐसी ऑटो कंपनी है, जिसने महाराष्‍ट्र सरकार द्वारा 13 अप्रैल को जारी आदेश का पालन करते हुए अपने संयंत्रों को बंद करने का फैसला लिया है। कंपनी ने आवश्‍यक सेवाओं में लगे कर्मचारियों को आने-जाने के लिए बस सेवा चालू रखने की अनुमति मांगी है। पत्र में कहा गया है कि सुरक्षा और बिजली, पानी और हवा की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए तीन शिफ्ट में कर्मचारियों को बुलाया जाएगा। तीनों शिफ्ट में आने वाले कर्मचारी आवश्‍यक सेवा जैसे डिस्‍पेंसरी, डीजी सेट ऑपरेशन, फायर फाइटिंग, वाटर सप्‍लाई, 22केवी सबस्‍टेशन, सुरक्षा जांच और एफ्यूलेंट ट्रीटमेंट प्‍लांट्स का काम देखेंगे।

You might also like

Comments are closed.