Loading...

निलंबित जनसंपर्क अधिकारी ने दी पुनः सेवारत होने की अर्जी

Loading...
पिंपरी : समाचार ऑनलाइन – आत्महत्या के लिए उकसाने को लेकर मामला दर्ज होने के बाद से पिंपरी चिंचवड मनपा की सेवा से निलंबित जनसंपर्क अधिकारी ने अब अदालत द्वारा निर्दोष करार दिए जाने के बाद पुनः सेवारत होने के लिए प्रशासन के पास अर्जी दी है। किरण गायकवाड़ ऐसा निलंबित जनसंपर्क अधिकारी का नाम है, जिनके खिलाफ नासिक के संगमनेर पुलिस में मामला दर्ज किया गया था।
Loading...
असल में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी के अनैतिक संबंधों के कारण आत्महत्या कर ली। इस मामले में, पिंपरी चिंचवड मनपा के जनसंपर्क अधिकारी किरण गायकवाड़ के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने को लेकर नासिक के संगमनेर पुलिस स्टेशन में  आपराधिक अपराध दर्ज किया गया था। इस बीच, गायकवाड़ को 2013 से मनपा सेवा से निलंबित कर दिया गया है। इसके कारण, जनसंपर्क अधिकारी का प्रभारी पदभार मनपा के प्रभारी सहायक आयुक्त अन्ना बोदडे को सौंपा गया है।
Loading...
इस बीच, किरण गायकवाड़ को संगमनेर के सत्र न्यायालय ने 25 नवंबर 2019 को बरी कर दिया।अपराध से बरी होने के बाद उन्होंने मनपा प्रशासन से उन्हें फिर से सेवा में शामिल करने के लिए आवेदन किया है। इस बारे में मनपा प्रशासन विभाग के सहायक आयुक्त मनोज लोणकर ने बताया कि, किरण गायकवाड़ को संबंधित आपराधिक अपराधों से बरी कर दिया गया है। इसके साथ ही गायकवाड़ ने मनपा सेवा मेंं वापस शामिल करने को लेकर आवेदन किया है। हालांकि, उनके आवेदन पर वरिष्ठ न्यायालय में उक्त मामले की प्रक्रिया की जानकारी लेने के बाद ही कार्यवाही की जाएगी।
Loading...

Comments are closed.