नए कृषि कानूनों के खिलाफ पुणे स्टेशन पर रेल रोको

पुणे। नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में जारी किसान आंदोलन के समर्थन में गुरुवार को विभिन्न किसान व सामाजिक संगठनों और राजनीतिक दलों से जुड़े कार्यकर्ताओं ने पुणे रेलवे स्टेशन पर रेल रोको आंदोलन करते हुए प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने कोयना एक्सप्रेस को रोककर उसके सामने नारेबाजी की। अवैध तरीके से रेलवे प्लेटफॉर्म पर आने, रेल की पटरी पार करने और नारेबाजी करने के आरोप में तीन कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।
प्रदर्शन कर रहे किसानों के संगठन संयुक्त किसान मोर्चा ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की अपनी मांग को लेकर दबाव बनाने के लिए पिछले सप्ताह रेल नाकाबंदी की घोषणा की थी। संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा था कि पूरे देश में दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक रेलें रोकी जाएंगी। इस कड़ी में पुणे में रेल रोको आंदोलन किया गया। पुणे के श्रमिक कल्याण कार्यकर्ता नितिन पवार ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि गुरुवार की दोपहर कांग्रेस, शिवसेना, राकांपा और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं समेत विभिन्न संगठनों के सदस्यों ने पुणे रेलवे स्टेशन पर रेल रोको प्रदर्शन में हिस्सा लिया।प्रदर्शनकारियों ने कोयना एक्सप्रेस को रोककर उसके सामने नारेबाजी की। रेलवे सुरक्षा बल ने अवैध तरीके से रेलवे प्लेटफॉर्म पर आने, रेल की पटरी पार करने और नारेबाजी करने के आरोप में नितिन पवार समेत तीन कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।
You might also like

Comments are closed.