ST Workers Strike | हम कल तक इंतजार करेंगे, अन्‍यथा आंदोलनकारी कर्मचारियों को कड़ी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा ; अनिल परब की चेतावनी

 मुंबई : पिछले कइ्र दिनों से चल रहे राज्‍य के एसटी कर्मचारियों की हड़ताल (ST Workers Strike) गुरुवार को समाप्‍त होने की संभावना जताई जा रही थी. लेकिन आंदोलन का नेत़ृत्‍व अपने हाथ में लेते हुए एड. गुणरत्‍न सदावर्ते (Adv Gunaratna Sadavarte) ने एसटी का सरकार में विलय होने तक आंदोलन जारी रहने की चेतावनी गुरुवार को दी. दूसरी तरफ सरकार द्वारा वेतन वृद्धि की घोषणा किए जाने के बाद चेतावनी दी है कि जो कामगार कुल सुबह यानी शुक्रवार सुबह तक काम शुरू नहीं करते है उनके (ST Workers Strike) खिलाफ कड़ी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा. यह चेतावनी परिवहन मंत्री अनिल परब (Anil Parab) ने दी है.

 

तो निलंबन वापस लेंगे

 

अनिल परब (Anil Parab) ने अपना रूख साफ करते हुए कहा है कि हमने अपना निर्णय बता दिया है. जिन कामगारों को यह निर्णय मंजूर है वे कामगार काम पर आएंगे. जिन्‍हें मंजूर नहीं है उन्‍हें कड़ी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा. कामगारों को किनकी लीडरशिप स्‍वीकार करनी है, यह उनका मुद्दा है. लेकिन मैं उन्‍हें एक बात बता देना चाहता हूं कि इतना भी नहीं ताने की टूट ही जाए. एक बार टूट गया तो फिर नहीं जुड़ेगा.  अब कितने कामगार आएंगे इस पर कार्रवाई निर्भर करती है. निलंबित किए गए कामगार शुक्रवार को काम पर आते हैं तो उनका निलंबन वापस ले लिया जाएगा.

 

खोत, पडलकर ने आंदोलन वापस लिया

 

विलय को लेकर भी उन्‍होंने अपना रूख साफ कर दिया है. उन्‍होंने कहा कि वेतन वृद्धि को लेकर सभी लेखाजोखा मैंने बुधवार के प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बताया है. विधायक सदाभाऊ खोत (MLA Sadabhau Khot), गोपीचंद पडलकर (Gopichand Padalkar) के साथ बुधवार को दिनभर बात हुई. चर्चा के बाद हमने सारी बात सामने रखी. इस वजह से गुरुवार को उन्‍हें सरकार की तरफ से जो बताया गया उसे कर्मचारियों को बताकर अपना आंदोलन वापस ले लिया है.

 

कल सुबह काम पर आए अन्‍यथा

 

अनिल परब ने कहा है कि एक बात साफ है लड़ाई कैसी भी हो, मांग मान्‍य होने के बाद लड़ाई रोकनी पड़ती है. यह साधारण संकेत होता है. कुछ कर्मचारी काम पर आने को इच्‍छुक है. वे हमसे संपर्क कर रहे हैं. वह लगातार कह रहे है कि हमें काम पर आना है. हमें सुरक्षा दें. आज मैंने कामगारों से अपील की है कि जो कामगार गांव गए हैं वे काम पर लौटे. जो मुंबई में है वे सुबह तक काम पर आ जाए. हम कल सुबह तक कितने कामगार आते हैं कितने नहीं आते हैं इसकी स्‍टडी करेंगे. इसके बाद महामंडल निर्णय लेगा कि आगे कैसे जाना है.

 

 

 

Maharashtra Congress | राज्‍य में कांग्रेस का राजस्‍थान पैटर्न ? ये मंत्री बदले जाने की संभावना, दिल्‍ली में हलचल तेज

 

Parambir Singh | कोर्ट द्वारा फरार घोषित किए गए पूर्व पुलिस कमिश्‍नर परमबीर सिंह आखिरकार मुंबई में दिखे

You might also like

Comments are closed.