ST Workers Strike | एसटी डिपो से बस बाहर निकालने का आदेश ; दबाव की वजह से दो ST कर्मचारियों को हार्ट अटैक, एक की मौत

धुले : ST Workers Strike | राज्‍य के एसटी कर्मचारियों की पिठछे 17 दिनों से हड़ताल चल रही है. हड़ताल वापस लेने के लिए एसटी महामंडल द्वारा निलंबन की कार्रवाई जारी है. इसके अलावा दबावतंत्र का इस्‍तेमाल कर एसटी कर्मचारियों को बस चलवाया जा रहा है. इसकी वजह से एक तरफ एसटी कर्मचारियों को निलंबित होने का डर सता रहा है तो दूसरी तरफ पुलिस सुरक्षा (police protection) में एसटी सड़क पर उतारने की नौबत  के दोहरे संकट (ST Workers Strike) का सामना एसटी कर्मचारियों को करना पड़ रहा है.

 

हड़ताल (Strike) के दौरान कई एसटी कर्मचारियों को हार्ट अटैक (heart attack) आने की घटना सामने आ चुकी है. इसमें कई कर्मचारियों की जान भी जा चुकी है. राज्‍य के कई डिपो से इस तरह के मामले हर दिन सामने आ रहे हैं. अब चार से पांच कर्मचारियों की हार्ट अटैक से मौत (Death) हो चुकी है. सोमवार को भी दो कर्मचारियों को हार्ट अटैक आया जिसमें एक कर्मचारी की मौत हो गई. जबकि दूसरे कर्मचारी का हॉस्पिटल (Hospital) में उपचार चल रहा है.

 

धुले व जलगांव डिपो (Dhule and Jalgaon Depot) के ये कर्मचारी है. धुले में 40 वर्षीय एसटी कर्मचारी को हार्ट अटैक आया था. उनका हॉस्पिटल में उपचार चल रहा है. जबकि पचोरा के दिलीप महाजन (Dilip Mahajan) नामक एसटी कर्मचारी की हॉस्पिटल में उपचार के दौरान मौत हो गई.

 

राज्‍य में एसटी महामंडल का राज्‍य सरकार में विलय करने की मुख्‍य मांग को लेकर एसटी कर्मचारियों की हड़ताल चल रही है. पिछले 17 दिनों से यह हड़ताल चल रही है. लेकिन अब तक इसका कोई हल नहीं निकला है. इसकी वजह से यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. अब सवाल खड़ा होने लगा है कि और कितने एसटी कर्मचारियों को अपनी जान देनी पड़ेगी.

 

 

 

ST Strike | एसटी हड़ताल का हल निकलेगा ? अजीत पवार-अनिल परब ने शरद पवार से मुलाकात की

 

Chandrakant Patil | पंकजा मुंडे को लेकर चंद्रकांत पाटिल का सांकेतिक बयान ; आने वाले वर्षभर में पार्टी……..

You might also like

Comments are closed.