ST Workers Suicide | कुछ दिन पहले निलंबित हुए पुणे के एसटी कर्मचारी ने की आत्महत्या

पिंपरी :  ST Workers Suicide | एसटी महामंडल (ST Mahamandal) का विलय राज्य सरकार (State Government) में करें, इस मांग के लिए राज्य के कई एसटी कर्मचारी स्ट्राइक (ST Workers Strike) पर हैं। राज्य सरकार ने एसटी कर्मचारिओं की कुछ मांगों क पूरी कर काम पर उपस्थित होने की अपील की। हालांकि हड़ताल करनेवाले एसटी कर्मचारी अपनी मांग पर अड़े हैं, जिस वजह से राज्य सरकार ने सख्त कार्रवाई करते हुए कर्मचारियों को निलंबित (Suspended) किया है। सरकार की इस कार्रवाई की वजह से कर्मचारी इस तरह का कदम उठा रहे हैं। ऐसी ही एक घटना पिंपरी चिंचवड (Pimpri Chinchwad) में हुई है। कुछ दिन पहले निलंबित हुए एसटी कर्मचारी ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या  (ST Workers Suicide) कर ली है।

 

आत्महत्या  (ST Workers Suicide ) करनेवाले एसटी कर्मचारी का नाम संजय सरवदे (Sanjay Sarvade) है। एसटी कर्मचारी के हड़ताल में शामिल होने के कारण सरवदे पर कुछ दिन पहले निलंबन की कार्रवाई हुई थी। सरवदे ने घर के बाथरूम में फांसी लगाकर आत्महत्या  (Suicide) कर ली। वे अपने पीछे 3 बच्चे और पत्नी छोड़ गए हैं। सरवदे ने किस कारण आत्महत्या की है, इसका कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है।

 

संजय सरवदे वल्लभनगर एसटी डिपो (Vallabhnagar ST Depot) में चालक के रूप में कार्यरत थे। वे एसटी कर्मचारी के आंदोलन में शामिल हुए थे। कुछ दिन पहले ही उनका निलंबन हुआ था। रात साढ़े 8 बजे के आसपास घर में पत्नी और बच्चों के साथ खाना खाने के बाद उन्होंने बाथरूम में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बहुत समय बीत जाने के बाद भी वो बाथरूम से नहीं निकले तो बच्चों ने बाथरूम का दरवाजा खोला तो सरवदे फांसी के फंदे से झूलते नजर आए।

 

इस बीच अभी तक सरवदे के आत्महत्या का कारण सामने नहीं आया है। निलंबन के कारण परेशान होकर उन्होने आत्महत्या की या फिर कोई और कारण था, यह सामने नहीं आया है। सांगवी पुलिस थाने (Sangvi Police Station) में इस मामले को दर्ज किया गया है। आगे की जांच पुलिस कर रही है।

 

 

 

Pune | पुणे के वाघोली में मराठी भाषा दिवस के अवसर पर हस्ताक्षर अभियान

Pune | स्वच्छ वाघोली, सुंदर वाघोली के तहत चलाया गया स्वच्छता अभियान

You might also like

Comments are closed.