Shreyas Talpade | हिंदी और मराठी इंडस्ट्री में क्या हैं अंतर? एक्टर श्रेयस तलपड़े ने बताया

मुंबई (Mumbai News) – एक्टर श्रेयस तलपड़े (Shreyas Talpade) बॉलीवुड (Bollywood) का जाना-पहचाना चेहरा हैं। लेक‍िन, 2015 में आई फिल्म इकबाल (Film Iqbal) से अपनी अलग पहचान बनाने के बावजूद श्रेयस (Shreyas Talpade) को हिंदी स‍िनेमा (Hindi Movie) में वो मुकाम नहीं मिला जिसके वे हकदार हैं। इस बीच उन्होंने हिंदी (Hindi Industry) और मराठी इंडस्ट्री (Marathi Industry) के अंतर को लेकर कई बात कही है। इस पर उन्होंने कहा- फर्क सिर्फ बजट का है। काम करने की चाहत, लगन दोनों तरफ एक ही है।

मराठी मनोरंजन (Marathi Entertainment) चुनौतीपूर्ण है क्योंकि कलाकार और टीमें इस बारे में सोच रही हैं कि कम बजट या कम संसाधनों पर बेहतरीन कलाकृति कैसे बनाई जाए। मैं जिस स्थिति में हूं, उसी के मुताबिक काम करना मैंने एक डायरेक्टर से सीखा। हमने छोटी-छोटी बातों की चिंता किए बिना, इससे बाहर निकलने का रास्ता खोजना सीखा।

अपने आने वाली फिल्मों के बारे में उन्होंने बताया कि ‘मन्नू और मुन्नी की शादी’ और ‘लव यू शंकर’ दो हिंदी और एक मराठी फिल्म (Marathi Film) में वह जल्द नजर आएंगे। दो और फिल्मों की शूटिंग जल्द शुरू होगी।

सोशल मीडिया (Social Media) को लेकर भी एक्टर ने बड़ी बात कही। तलपड़े ने कहा- लोगों ने तेजी से सोशल मीडिया को इसलिए अपनाया क्योंकि यह जुड़ने का जरिया था। कुछ लोग इस माध्यम का अलग तरह से उपयोग करते हैं। यहीं पर ट्रोलिंग, आपत्तिजनक भाषा चलन में आती है। लेकिन, ऐसे लोग हर जगह होते हैं। अब ये सारी बातें सोशल मीडिया की वजह से हम कलाकारों तक पहुंच रही हैं, क्या फर्क है। लोगों को किसी से भी बात करने से पहले चार बार सोचना चाहिए। देखें कि आपने अपने जीवन में क्या किया है और फिर टिप्पणी करें।

 

 

Kareena Kapoor | ‘मनी एटीट्यूड वाली आंटी’, करीना कपूर ‘इस’ हरकत की वजह से फिर हुई ट्रोल – Video

You might also like

Comments are closed.