पुणे के वारजे मालवाड़ी में चौंकाने वाली घटना ! जांच के लिए गई  क्राइम ब्रांच के पुलिस पर जमा भीड़ दवारा जानलेवा हमला ; पुणे में डेढ़ सौ लोगों पर FIR दर्ज 

पुणे, 24 जून : पुणे की पुलिस टीम पर करीब सौ से डेढ़ सौ लोगों की भीड़ दवारा हमला करने का चौंकाने वाली घटना सामने आई है।  जमी भीड़ ने पुलिस मुखविर की हत्या का प्रयास करते हुए पुलिस की जबर्दस्त पिटाई कर दी।  इस घटना को लेकर शहर में खलबली मच गई है।  वारजे के म्हाडा कॉलोनी में मंगलवार की रात यह घटना घटी है।  लेकिन बुधवार को केस दर्ज किया गया।

इस मामले में पुलिस कर्मचारी श्रीकांत दगडे (उम्र 33 ) ने वारजे मालवाड़ी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है।  शिकायत के आधार पर सौ से डेढ़ सौ लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार श्रीकांत दगडे क्राइम ब्रांच के एंटी डिकयात एंड वेहिकल थीफ स्कवाड में नियुक्त है।
वे अपने सहकर्मी ऋषिकेश कोलप के सेहत वारजे में पेट्रोलिंग करने गये थे।  इसी दौरान मुखिबर से उन्हें जानकारी मिली कि अभिजीत खंडागले के पास देसी पिस्तौल है। और वह अपने साथी के साथ मिलकर लूटपाट करने वाला है।  वह म्हाडा कॉलोनी के बिल्डिंग नंबर दो के चौथे फ्लोर में रहता है।  यह जानकारी उन्होंने सीनियर अधिकारियों को दी।

इसके बाद एक दोस्त को साथ लेकर मुखबिर और संबंधित पुलिस म्हाडा कॉलोनी गई।  उन्होंने गाडी पार्क की।  मुखबिर को लकर चौथे मंजिल पर गए।  वहां अभिजीत के रूम का दरवाजा खटखटाया और महिला से अभिजीत को  लेकर पूछताछ शुरू की। महिला ने बताया कि वह बाहर गया है।  इस दौरन वहां बड़ी संख्या में भीड़ जमा हो गई।  इसे लेकर शिकायतकर्ता को संदेह हुआ।  वह मुखबिर को लेकर नीचे आये।  लेकिन बिल्डिंग के नीचे काफी भीड़ जमा हो गई थी। इसमें से कुछ लोगों ने मुखबिर से कहा कि तुम्हे देखता हूं तुम हमारे बारे में पुलिस को जानकारी देते ही।  आज तुम्हे जिंदा नहीं छोड़ेंगे। इसके बाद भीड़ ने हंगामा शुरू कर दिया।  इसके बाद डंडे, पत्थर और सीमेंट के ब्लॉक से मुखबिर को मारने लगे।

उनके सिर में चोट लगने से खून बहने लगा।  शिकायतकर्ता और मुखबिर ने जमा भीड़ को बताया कि हम पुलिस है।  फिर भी कोई कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थे।  इसके बाद शिकायतकर्ता और मुखबिर भीड़ में फंस गए और उनके जबर्दस्त पिटाई हो गई। जमी भीड़ से किसी तरह मुखबिर को बाहर निकाला गया।  उन्हें गंभीर चोट लगी होने की वजह से उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. उनसे जमी भीड़ के बारे में पूछा गया टी उन्होंने 27 लोगों की पहचान की।  उन्होंने पुलिस को सबके नाम बताये।  इस मामले में दो पुलिसकर्मी जख्मी हो गए है।  इस पुरे मामले को लेकर वारजे मालवाड़ी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई गई है। लेकिन अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।  मामले की जांच वारजे मालवाड़ी पुलिस कर रही है।
You might also like

Comments are closed.