Loading...

भाजपा को शिवसेना की खुली चुनौती- हिम्मत है तो BMC पर कब्जा जमा कर दिखाएं

Loading...

मुंबई. ऑनलाइन टीम : शिवसेना ने  भाजपा को खुली चुनौती दी है। शिवसेना के भगवा ध्वज को शुद्धिकरण की जरूरत वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की टिप्पणी को लेकर पर निशाना साधते हुए पार्टी के मुखपत्र सामना में एक संपादकीय में कहा गया है कि शिवसेना का भगवा ध्वज तीन दशकों से बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) में फहरा रहा है और भाजपा  इसे हटाने की हिम्मत करके दिखाए।

Loading...
Loading...

बता दें कि बुधवार को देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि भाजपा 2022 फरवरी के बाद बीएमसी पर कब्जा कर लेगी। फडणवीस ने सीएम उद्धव ठाकरे और शिवसेना का नाम लिए बिना निशाना साधते हुए कहा, “राजा की जान जैसे पोपट में होती है, वैसे कुछ लोगों की जान BMC में है। हर वार्ड में एक नेता की नियुक्ति की जाएगी, युवा मोर्चा हर बूथ पर में 50 और महिला मोर्चा 100 लोगों को जोड़ें। इस नीति के साथ काम करेंगे और पिछली बार की कसक इस बार पूरी करेंगे। सरकार में बैठे लोग कोरोना पर फ़िलहाल अपनी पीठ थपथपाने में मग्न हैं, लेकिन हकीकत ये है कि सरकार ने कोरोनाकाल में काम कम और टेंडर पर ज़्यादा फ़ोकस किया। बीजेपी जल्द इसका भंडाफोड़ करेगी।

इसके बाद भाजपा नेता आशीष शेलार ने टिप्पणी की कि पिछले नवंबर में कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के साथ हिंदुत्व छोड़ने के बाद शिवसेना के भगवा ध्वज को शुद्धिकरण की आवश्यकता है। दोनों नेताओं के बोल पर संपादकीय में शिवसेना के हवाले से कहा गया है कि-  भले भाजपा ने मराठा योद्धा राजा शिवाजी के वंशजों को अपनी पार्टी में शामिल किया है, लेकिन शिवाजी का भगवा ध्वज अभी भी मराठी लोगों का है। जो लोग मराठी गौरव और हिंदू कट्टरपंथ के मूल भगवा ध्वज को हटाने की साजिश रच रहे हैं, वे देश में हिंदुत्व के साथ विश्वासघात कर रहे हैं।

Loading...

Comments are closed.