‘मोदी को तीनों वैक्सीन को एक साथ लेना था’, कहने के बाद ट्रोल होने लगीं शकुंतला देवा  

रायपुर. ऑनलाइन टीम : कोरोना संक्रमण पर निजात पाने के लिए जब दुनिया भर में वैक्सीन पर आधारित शोध होने लगे तो किसी प्रकार का वर्गीकरण नहीं था। सभी चाहते थे, जो भी जल्द आए। दौड़ में 3 आगे निकले और भारत सरकार ने काफी परीक्षणों के बाद उन्हें अनुमति दी। अब विरोधियों को इसमें भी दर्द है।

पहले कहा- कोरोना वैकासीन भाजपाईयों की है, इस पर शक है। अब कहते हैं प्रधानमंत्री ने जो लगाया वह ठीक है। विश्वास के लिए उन्हें तीनों वैक्सीन लगवानी चाहिए। छत्तीसगढ़ के कसडोल से कांग्रेस विधायक शकुंतला साहू ने यह टिप्पणी की है। उसके बाद सोशल मीडिया पर शकुंतला साहू को लोग ट्रोल भी कर रहे हैं।

बता दें कि कोरोनावायरस वैक्सीन लगाने के बाद होने वाले विपरीत असर में अब तक भारत में मौत का कोई मामला सामने नहीं आया है। जानकारों की मानें तो कोविशील्ड वास्तव में एक वेक्टर आधारित वैक्सीन है जिसका रिएक्शन अधिक होता है। रिएक्शन अधिक होने का यह मतलब बिल्कुल नहीं है कि कोरोनावायरस की यह वैक्सीन सुरक्षित नहीं है.” भारत बायोटेक की को वैक्सीन वास्तव में एक इन एक्टिवेटेड वैक्सीन है, यह पहले से ही सुरक्षित प्लेटफॉर्म है जिसका इस्तेमाल पिछले 200 साल से किया जा रहा है।

पीएम मोदी की तस्वीर पर टिप्पणी करते हुए कांग्रेस विधायक शकुंतला साहू ने कहा है कि साहेब, आपको एक नहीं तीनों वैक्सीन एक साथ लेना था। शकुंतला साहू के पास विधानसभा में संसदीय सचिव का पद भी है। कथित रूप से वह सीएम भूपेश बघेल की करीबी है। विवादों की वजह से शकुंतला साहू हमेशा सुर्खियों में रहती हैं। बीते दिनों जन्मदिन पार्टी को लेकर वह चर्चा में थीं।

You might also like

Comments are closed.