शाह ने तृणमूल पर विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ने का आरोप लगाया

नई दिल्ली, 15 मई (आईएएनएस)|  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने एक दिन पहले कोलकाता में अपने रोड शो के दौरान समाज सुधारक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़े जाने के मामले में बुधवार को तृणमूल कांग्रेस के ‘गुंडों’ को जिम्मेदार ठहराया।

शाह ने भाजपा मुख्यालय में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, “देश भर में छह चरणों में चुनाव संपन्न हो चुका है लेकिन हिंसा की घटनाएं सिर्फ पश्चिम बंगाल में हो रही हैं।”

उन्होंेने कहा, “(मुख्यमंत्री) ममता बनर्जी भाजपा पर राज्य में हिंसा फैलाने का आरोप लगा रही हैं। वह केवल 42 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, लेकिन भाजपा पूरे देश में चुनाव लड़ रही है। बंगाल को छोड़कर और कहीं भी हिंसा की घटना होने की खबर नहीं है। इसका मतलब कि तृणमूल हिंसा के लिए जिम्मेदार है।”

शाह ने कहा कि उनके रोड शो के दौरान तीन हमले हुए लेकिन राज्य पुलिस महज मूक दर्शक बनी रही।

उन्होंने बनर्जी पर सहानुभूति हासिल करने के प्रयास में विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ने की साजिश रचने का भी आरोप लगाया।

शाह ने कहा, “कॉलेज का गेट बंद था और भाजपा कार्यकर्ता बाहर थे। तृणमूल के गुंडे अंदर से पथराव कर रहे थे। यह ममता बनर्जी द्वारा सहानुभूति हासिल करने के लिए एक साजिश और नाटक है। वोट बैंक हासिल करने के लिए प्रतिमा तोड़ना स्पष्ट रूप से दर्शाता है कि तृणमूल कांग्रेस इस चुनाव में बुरी तरह से हार रही है।”

उन्होंने कहा, “इन सबसे साबित होता है कि तृणमूल कांग्रेस के गुंडों ने प्रतिमा को तोड़ा।”

शाह ने यह भी दावा किया कि वह मंगलवार को कोलकाता में सीआरपीएफ की मौजूदगी के कारण बच गए।

उन्होंने तस्वीरें दिखाते हुए कहा, “अगर वहां सीआरपीएफ नहीं होती तो मेरे लिए वहां से सही सलामत आ पाना मुश्किल होता।”

You might also like

Comments are closed.