Science Invention City | राज्य सरकार का बड़ा निर्णय; पिंपरी-चिंचवड में बनाएंगे ‘राजीव गांधी साइंस इंवेंशन सिटी’

पिंपरी चिंचवड

पिंपरी (Pimpri News) : Science Invention City | बच्चों में वैज्ञानिक और चिकित्सक दृष्टिकोण विकसित करने के लिए केंद्र सरकार (Central Government) और राज्य (State Government) के शिक्षा विभाग (Education Department) की ओर से पिंपरी-चिंचवड (Pimpri-Chinchwad) औद्योगिक नगरी में भारतरत्न राजीव गांधी विज्ञान आविष्कार नगरी (Bharat Ratna Rajiv Gandhi Science Invention City) का निर्माण किया जाएगा। देश में कलकत्ता और अहमदाबाद के बाद अब महाराष्ट्र (Maharashtra) के पिंपरी चिंचवड में साइंस सिटी (Science Invention City) का निर्माण होगा। इसलिए दो सौ करोड़ का अनुदान मिलनेवाला है।

 

पिंपरी चिंचवड मनपा (Pimpri Chinchwad Municipal Corporation) की ओर से केंद्र सरकार के राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय (National Science Museum) की मदद से चिंचवड स्टेशन स्थित ऑटो क्लस्टर के पार 2013 में पिंपरी चिंचवड साइंस पार्क (Pimpri Chinchwad Science Park) का निर्माण किया गया था। यह परियोजना सफलतापूर्वक शुरू होने के बाद राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय की सहायता से साइंस सिटी (Science City) निर्माण का विषय आगे आया था। इसे अब राज्य सरकार ने मंजूरी दी है।

 

ऐसा है उद्देश्य

 

  1. विविध वैज्ञानिक खेल के माध्यम से छोटे बच्चों में विज्ञान के संबंध में जानने की इच्छा का निर्माण हो।
  2. छात्रों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण का निर्माण करना, भविष्य में वैज्ञानिक बनाने का संकल्प।
  3. 21वीं सदी का कौशल, वैश्विक नागरिकता, उद्योग और उद्यमिता, बहु अनुशासनात्मक, अनुभवात्मक शिक्षा देना।

 

आवश्यक आठ एकड़ क्षेत्र उपलब्ध हैं। इसमें से एक एकड़ जमीन पर विभागीय स्तर का विज्ञान केंद्र है। बाकी के सात एकड़ जमीन पर वैश्विक दर्जे के विज्ञान के विविध संकल्पनाओं पर आधारित 191 करोड़ रुपये खर्च कर आविष्कार केंद्र बनाया जाएगा।

 

21वीं सदी के भारत निर्माण के लिए विज्ञान व तकनीक की जरूरत को ध्यान में रखकर देश को समृद्ध बनाने का सपना व दूरदृष्टि देकर परिवर्तन करने के लिए विज्ञान विषय का बहुत महत्व है। केंद्र और राज्य सरकार की मदद से इस परियोजना का निर्माण होगा। इससे शहर को नई पहचान मिलेगी। पिंपरी चिंचवड साइंस पार्क में बड़े पैमाने पर लोग आते हैं। साइंस पार्क शहर की नई पहचान बन गई है। विज्ञान आविष्कार केंद्र शहर की खूबसूरती बढाएगा।

 

       -राजेश पाटिल, आयुक्त पिंपरी-चिंचवड मनपा

 

विज्ञान केंद्र (Science Center) की वजह से पिंपरी- चिंचवड की स्वतंत्र पहचान बनी है। इस केंद्र में साल में लगभग ढाई लाख छात्र आते हैं। केंद्र सरकार की ओर से कोलकाता, अहमदाबाद में विज्ञान प्रोजेक्ट है। आविष्कार नगरी बनाने के राज्य सरकार के निर्णय की वजह से शहर की सुंदरता बढ़ेगी।

 

           -प्रवीण तुपे, संचालक, पिंपरी चिंचवड साइंस पार्क

 

 

 

Pune | सुनील माने की ओर से नौकरी महोत्सव का आयोजन

PMRDA | पीएमआरडीए की विकास योजना पर अब तक 26,000 आपत्तियां

You might also like

Comments are closed.