Sanjay Raut | पुणे में हमारा ही महापौर होगा – सांसद संजय राउत

पुणे (Pune News) : Sanjay Raut | आने वाले मनपा चुनाव (Municipal Election) में राजनीतिक गणित भले ही बदल गया हो, पुणे (Pune) और पिंपरी-चिंचवड़ (Pimpri-Chinchwad) में हम महाविकास आघाडी (Maha Vikas Aghadi) के रूप में लड़ने की कोशिश करेंगे। अगला महापौर (Mayor) हमारा ही होगा। ऐसा शिवसेना के सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने स्पष्ट किया।

 

राउत ने पुणे (Pune) में पत्रकारों से बात की। राउत (Sanjay Raut) ने कहा, “आगामी मनपा चुनाव (Upcoming Municipal Election) में हम महाविकास आघाडी के रूप में लड़ेंगे। वर्तमान में महाराष्ट्र (Maharashtra) में ठाकरे-पवार पैटर्न (Thackeray-Pawar Pattern) प्रचलित है, यह पैटर्न महाराष्ट्र में चलनेवाला पैटर्न है। लेकिन यह अफ़सोस की बात है कि शिवसेना का नगरसेवक अब तक पुणे क महापौर (Pune Mayor) नहीं बना है, लेकिन वह इसे इस बार देखना चाहेंगे।

 

‘आई एम स्टिल यंग’ (I am still young) नाटक बहुत लोकप्रिय था। देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) को अभी भी समय-समय पर लगता है कि मुख्यमंत्री बन जाएंगे। उन्हें अपने सपनों में खुश रहना चाहिए। सपने में उन्हे लगता है कि जैसे उनकी भावनाओं में पंख लग गए हैं। फडणवीस को और ताकत मिले और जीवन में उन्हे सपना साकार करने का मौका मिले, ऐसी कामना करता हूं।” मैंने हर्षवर्धन पाटिल (Harshvardhan Patil) का यह बयान पढ़ा कि भाजपा (BJP) में शामिल होने के बाद उन्हें रात में अच्छी नींद आती है।

 

सावरकर को भारत रत्न कब दिया जाएगा ?

 

शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे (Balasaheb Thackeray) पहले ही कह चुके हैं कि हिंदुत्व ही राष्ट्रवाद है। अब मोहन भागवत जो कह रहे हैं वह कोई नई बात नहीं है। संघ को मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) को स्वातंत्र्यवीर सावरकर से प्यार हो गया है, तो उनका स्वागत है, लेकिन उन्हें यह भी बताना चाहिए कि उन्हें भारत रत्न से कब सम्मानित किया जाएगा। सावरकर को लगा कि जेल में बंद होने के बजाय उन्हें बाहर आकर काम करना चाहिए, इसे माफी मांगना नहीं कहा जा सकता है। सावरकर ने कभी अंग्रेजों से माफी नहीं मांगी।

 

Pune | हसन मुश्रीफ ने रिश्तेदार को कॉन्ट्रैक्ट देकर करोड़ों रुपए डकारा

You might also like

Comments are closed.