शिवनेरी पर शिवजन्मोत्सव पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का प्रतिपादन

पुणे सामाचर ऑनलाइन टीम – पिंपरी। छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती के उपलक्ष्य में पुणे जिले के जुन्नर तालुका स्थित शिवनेरी किले पर शिवजन्मोत्सव उत्साह के साथ मनाया गया। इसमें मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि, हमारे हर किसी के दिल में छत्रपति शिवराय का स्थान अढ़ल है। शिवराय ही हैं जिन्होंने हम सबको आपस में जोड़े रखा है। हर अच्छे काम में उनका स्मरण बिना भूले होता ही है। आज शिवजयंती का माहौल है लेकिन हर किसी के चेहरे पर मास्क है। छत्रपति शिवराय हमारे भगवान इसलिए हैं क्योंकि दुश्मनों से लड़ने के लिए तलवार पकड़ने का जिगर था। आज कोरोना की महामारी से लड़ते वक्त हमें उन्हीं से प्रेरणा और जिद मिल रही है।

कार्यक्रम के आरंभ में शिवजन्मस्थान पर पारंपरिक वेशभूषा में महिलाओं ने शिवराय की महत्ता बतानेवाली लोरी गाकर झूला झुलाया। इसके पश्चात पुलिस बल ने तीन राउंड फायरिंग कर छत्रपति शिवाजी महाराज को सलामी दी। आदिवासी पारंपरिक नृत्य के प्रस्तुतिकरण के बाद मुख्यमंत्री ठाकरे, उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने बालशिवाजी व जिजाऊ के स्मारक पर माल्यार्पण किया। इस मौके पर ‘शिवयोग’ इस डाक टिकट का अनावरण और वन विभाग के माध्यम से 391 वृक्षारोपण के अंतर्गत वृक्षारोपण किया गया। इस कार्यक्रम में पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे, सांसद छत्रपति संभाजीराजे, सांसद डॉ.अमोल कोल्हे, विधायक अतुल बेनके, विनायक मेटे, जिला परिषद अध्यक्षा निर्मला पानसरे, मराठा सेवा संघ के प्रदेशाध्यक्ष विजय घोगरे, संभागीय आयुक्त सौरभ राव, जिलाधिकारी डॉ.राजेश देशमुख, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी आयुष प्रसाद, जिला पुलिस अधीक्षक अभिनव देशमुख, प्रांताधिकारी सारंग कोडोलकर आदि उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा, “शिवनेरी आने का यह दूसरा वर्ष है। इस सम्मान को शिवराय के आशीर्वाद और आप सभी के प्यार ने दिया है। कोरोना के साथ हमारी लड़ाई जारी है। छत्रपति द्वारा लड़ी गई सभी लड़ाइयों में, उन्होंने दुश्मन को हराया। हालांकि आज ढाल तलवार नहीं है, लेकिन यह मत भूलो कि दुश्मन कोरोना से लड़ते समय मास्क ही आपकी ढाल है। छत्रपति शिवाजी महाराज हमारे देवता क्यों हैं, क्योंकि वे दुश्मनों से लड़ने के लिए तलवार भांजने का साहस रखते थे। आज कोरोना से लड़ने के लिए हमें उनसे ही प्रेरणा मिल रही है। शिवराय हम सभी को आपस में जोड़कर रखते हैं। यह कहकर उन्होंने पुरस्कार विजेता शिव भक्तों को बधाई देते हुए कहा कि छत्रपति शिवराय का तेज और उनकी महिमा पूरे विश्व में फैलेगी।

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती महाराष्ट्र की भूमि में जन्मे सभी की आशाओं और आकांक्षाओं की जयंती है। यह मावलों की बहादुरी और बलिदान की वर्षगांठ है जो छत्रपति शिवाजी के साथ स्वराज्य के लिए लड़े थे। यह हम सभी के लिए इस भूमि का सौभाग्य है, कि छत्रपति शिवाजी महाराज जैसे युग निर्माता महाराष्ट्र की भूमि में पैदा हुए थे और लाखों युवा जो उन्हें रोल मॉडल मानते हैं, अभी भी गांवों में महाराष्ट्र की पहचान को जीवित रखे हुए हैं। उन्होंने अपील की कि कोरोना के नियमों का पालन करके शिव जयंती राज्य के लोगों के घरों और दिमागों में मनाई जानी चाहिए। उन्होंने प्रशासन को आदेश दिया कि शिवनेरी क्षेत्र में विकास कार्यों के लिए उपलब्ध धनराशि संपूर्ण शिवनेरी की पवित्रता और महत्व को देखते हुए उच्च गुणवत्ता की होनी चाहिए और यह भी काम समय पर शुरू किया जाना चाहिए और समय पर पूरा होना चाहिए। राज्य के समग्र विकास और शिवनेरी के विकास में कोई कमी नहीं होगी, यह कहते हुए, उपमुख्यमंत्री पवार ने राज्य में कोरोना की बढ़ती व्यापकता को देखते हुए उचित दूरी, मास्क का उपयोग, भीड़ से बचने, सतर्क रहने और सरकार के नियमों का पालन करने की अपील की।

You might also like

Comments are closed.