Remdesivir : अजित पवार ने खींचे भाजपा सांसद डॉ. सुजय विखे के कान, कहा- ‘शरद पवार की भी पहचान थी’

मुंबई : देश में रेमडेसिविर इंजेक्शन का अभाव है, ऐसे में अहमदनगर भाजपा के सांसद डॉ. सुजय विखे पाटिल दिल्ली से छुपा कर निजी विमान से रेमडेसिविर इंजेक्शन का स्टॉक लाए थे। इस स्टॉक का निर्वाचन क्षेत्र में वितरण करने के बाद उन्होंने वीडियो के माध्यम से इसकी जानकारी दी थी। विखे का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। रेमडेसिविर का अभाव होने के बाद भी विखे को यह इंजेक्शन कैसे मिला? यह सवाल कई लोगों ने फेसबुक पर पूछा। वही इस संदर्भ में उच्च न्यायालय के औरंगाबाद खंडपीठ में याचिका भी दायर हुई थी। इस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने आदेश दिया कि सांसद विखे का यह काम उचित नहीं है, सभी सामान स्वास्थ्य विभाग के पास जमा करे। वही राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने शरद पवार का उदाहरण देते हुए सांसद डॉ सुजय विखे के कान खीचे।

जनप्रतिनिधि हैं फिर भी रेमडेसिविर का स्टॉक करना अनुचित है, ऐसी टिप्पणी उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने सांसद सुजय विखे पर की। कोई भी हो, सबके लिए नियम एक ही है, उन नियमों का पालन करना, ये काम जनता के हित में है क्या इसे देख कर निर्णय लें। सासद विखे द्वारा लाए गए इंजेक्शन सरकार के पास जमा कराने का आदेश औरंगाबाद खंडपीठ ने दिया है। आप अगर जनप्रतिनिधि हैं फिर भी जो सामान आप लाए हैं वो किस कंपनी का है। इसकी जांच हुई है क्या, इसे मान्यता मिली है क्या आदि इन सभी बातों को जांच कर दिया जाता है। बीच के दिनो में शरद पवार की पहचान की वजह से कुछ ने दिया, उस समय पुणे के हैं तो पुणे के जिलाधिकारी को दें, सातारा के हैं तो वहाँ के जिलाधिकारी को दे, मुंबई को देना है तो आयुक्त को दे, ऐसा आदेश पवार साहब ने दिया था, यह उदाहरण अजित पवार ने दिया। विखे के विमान का वीडियो और फोटो को कोई फालतू में न ले, लेकिन जनप्रतिनिधि को सभी बातो की जांच कर ही कोई काम करना चाहिए, ऐसा उपमुख्यमंत्री पवार ने कहा।

You might also like

Comments are closed.