राहत भरी खबर…15 फरवरी तक बढ़ी FASTag की डेडलाइन

नई दिल्ली . ऑनलाइन टीम : सभी चार पहिया वाहनों के लिए फास्टैग की डेडलाइन 15 फरवरी 2021 तक बढ़ा दी गई है।  इसके पहले भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने एक जनवरी 2021 से टोल टैक्स का पेमेंट कैश में करने की व्यवस्था पूरी तरह खत्म करने का एलान किया था।

सड़क परिवहन मंत्रालय ने इस बारे में एनएचएआई को एक पत्र लिखा है। इसमें कहा गया है कि वह 15 फरवरी तक 100 फीसदी कैशलेस फीस कलेक्शन के लिए नियामकीय जरूरतों को पूरा कर सकता है। टोल प्लाजा पर कैश ट्रांजेक्शन को हतोत्साहित करने के लिए सिर्फ एक को छोड़कर सभी लाइनों को ‘फास्टैग लेन’ बनाया गया था।

एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि कैश में ट्रांजेक्शन पूरी तरह कानूनी तरीका है। किसी को कैश में पेमेंट करने से रोका नहीं जा सकता है। ऐसे में मोटर वाहन नियम को सख्ती से पालन करना सबसे अच्छा विकल्प होगा। यह मान्य फास्टैग को अनिवार्य करता है। हाल के महीनों में फास्टैग इस्तेमाल करने वाले यूजर्स की संख्या तेजी से बढ़ी है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि कोविड-19 के कारण लोग कॉन्टैक्ट लेस ट्रांजेक्शन को ज्यादा पसंद कर रहे हैं।

बता दें कि फास्टैग को एक दिसंबर 2017 के बाद से नए चार पहिया वाहनों के लिए रजिस्ट्रेशन के समय ही अनिवार्य कर दिया गया था। इस पूरे फैसले को लागू करने के लिए सरकार ने केंद्रीय मोटर वाहन अधिनियम-1989 में संशोधन किया था।  भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के अनुसार फास्टैग ई-कॉमर्स वेबसाइट अमेजन, फ्लिपकार्ट, स्नैपडील और पेटीएम पर उपलब्ध है। बैंक और पेट्रोल पंप से भी फास्टैग को खरीदा जा सकता है। बैंक से फास्टैग लेते समय इस बात का ध्यान रखें कि जिस बैंक में आपका खाता हो उसी से फास्टैग खरीदें। एनएचएआई के अनुसार आप फास्टैग को किसी भी बैंक से 200 रुपये में खरीद सकते हैं। फास्टैग को आप कम से कम 100 रुपये से रिचार्ज करवा सकते हैं। सरकार ने बैंक और पेमेंट वॉलेट से रिचार्ज पर अपनी तरफ से कुछ अतिरिक्त चार्ज लगाने की छूट दी हुई है।

You might also like

Comments are closed.