यात्रियों को राहत; राज्य में एक बार फिर से एसटी दौड़ने के लिए तैयार

ऑनलाइन टीम- सख्त पाबंदियों की वजह से बंद पड़ी एसटी बस अब एक बार फिर से ‘यात्री सेवा’  के लिए तैयार हैं। राज्य की जीवनवाहिनी एसटी शुरू करने के लिए राज्य के कई जिलाधिकारियों ने कदम उठाए हैं। हालांकि,  मुंबई और उपनगर जिलाधिकारियो की अनुमति न होने के कारण  मुंबईकरों की एसटी यात्रा प्रतिबंधित होगी।

एसटी बंद होने से धूल फांक रही वाहनों की सफाई और रखरखाव दुरुस्ती किया जा रहा है। बरसात के मौसम को देखते हुए टपकती छतों, खराब खिड़कियों, ड्राइवर के फ्रंट वाइपर को ठीक करने के काम को प्राथमिकता दी जा रही है। एसटी के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अगले कुछ दिनों में एसटी सेवा शुरू होगी, यात्रियों की असुविधा टालने के लिए सावधानी बरती जा रही है।

कोरोना प्रकोप के कारण जिले में एसटी सेवा बंद कर दी गई थी। अब जबकि कोरोना की स्थिति नियंत्रण में है, बस सेवा शुरू की जानी चाहिए,  ऐसा पत्र हिंगोली के जिलाधिकारी रुचेश जयवंशी ने महामंडल के परभणी संभाग को भेजा है। इसी तरह, कई जिलाधिकारी ने अपने-अपने संबंधित जिलों के अंतर्गत गांवों और तालुकों में एसटी सेवाओं को फिर से शुरू करने के लिए स्थानीय एसटी अधिकारियों से संपर्क करना शुरू कर दिया है।

मुंबई और उपनगर जिलाधिकारी ने एसटी को शुरू करने के लिए मुंबई विभाग को अभी तक कोई पत्र नहीं भेजा है। साथ ही गाड़ी शुरू करने का कोई आदेश नहीं मिला है। नतीजतन, मुंबई से चलने वाली बसें जनता के लिए बंद रहेंगी। एसटी महामंडल ने कहा है कि वर्तमान में एसटी बस सेवा केवल अत्यावश्यक यात्रियों के लिए उपलब्ध होगी और इसके माध्यम से यात्रा करते समय सरकार के सख्त प्रतिबंधों का सख्ती से पालन करना आवश्यक होगा।

जिलाधिकारी द्वारा अधिकार का उचित उपयोग

कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से गिरावट आने से आम जनता को बड़ी राहत मिल रही है। जिले का आर्थिक चक्र फिर से रफ्तार से शुरू करने के लिए, कोरोना संकट के नुकसान को दूर करने के लिए नए सिरे से शुरुआत करने के लिए जिलाधिकारी द्वारा अधिकार का उचित इस्तेमाल शुरू होने की चर्चा एसटी के वरिष्ठ अधिकारियों में होने लगी।

You might also like

Comments are closed.