Red Alert | महाराष्ट्र के रत्नागिरी में मूसलाधार बारिश की वजह से 16 तारीख तक जिले में रेड अलर्ट

रत्नागिरी : ऑनलाइन टीम- मौसम विभाग (Meteorological Department) ने कोंकण क्षेत्र में अधिक से बहुत अधिक बारिश (red alert) की संभावना जताई है। रत्नागिरी जिले में अतिवृष्टि की चेतावनी कायम है। राजापुर और संगमेश्वर तालुका में बाढ़ (Flood) कम हो गई है, लेकिन इस जगह पर खतरा बना हुआ है। रत्नागिरी जिले में 16 तारीख तक रेड अलर्ट (red alert) घोषित किया गया है। जिले के कुछ हिस्सों में रात में तो कहीं सुबह से ही झमाझम बारिश (heavy rain) शुरू हो गई है। हालांकि मौसम विभाग (Meteorological Department) ने पूरे दिन भारी बारिश की संभावना जताई है, इसलिए जिला प्रशासन (District Administration) तैयार है।

रत्नागिरी जिले में पिछले दो दिनों से भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। कुछ नदियां भी खतरे के निशान को पार कर चुकी हैं, लेकिन रात में जिले में हल्की उमस आने से जिले में बाढ़ का खतरा टल गया है। राजापुर शहर भी जलमग्न हो गया है। साथ ही, संगमेश्वर तालुका में गड नदी, शास्त्री नदी और राजापुर तालुका में अर्जुना और कोदावली नदियों का खतरा टल गया है।

शाम को वशिष्ठी नदी ने खतरे के निशान को पार कर चिपलून शहर और खेड़ जगबुड़ी नदी में खतरे का स्तर बढ़ा दिया। लेकिन बारिश के रुकने से नदियां नियंत्रण में हैं। जिले में बाढ़ की स्थिति नियंत्रण में है। जिले के कुछ हिस्सों में जहां रात में बारिश हुई वहीं सुबह से ही कुछ हिस्सों में छिटपुट बारिश फिर से शुरू हो गई है।

रायगढ़ में भी बाढ़ की स्थिति

रायगढ़ जिले में कुंडलिका नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। जिले में लंबे समय से बारिश हो रही है और नदियां उफान पर हैं। जिला प्रशासन ने नदी किनारे के गांवों को अलर्ट कर दिया है। नागरिकों से कहा गया है कि काम होने पर ही घर से बाहर निकलें। सार्वजनिक जीवन लंबे समय से बाधित है। अब बारिश की तीव्रता कम हो गई है।

You might also like

Comments are closed.