भाजपा के खेमे में रहने के लिए निर्दलीय उम्मीदवार पर रश्मि शुक्ला ने डाला दबाव, जितेंद्र आव्हाड का आरोप

ठाणे : एक निर्दलीय उम्मीदवार को भाजपा के खेमे में लाने के लिए राज्य के खुफिया विभाग के तत्कालीन आयुक्त रश्मि शुक्ला कोशिश कर रही थी। यह चौंकाने वाला खुलासा गृहनिर्माण मंत्री व राष्ट्रवादी कांग्रेस के नेता जितेंद्र आव्हाड ने किया है।

पुलिस अधिकारी रश्मि शुक्ला दवारा किए गए फोन टैपिंग में पुलिस के ट्रांसफर और प्रमोशन में आर्थिक लेनदेन होने का आरोप विपक्ष नेता देवेंद्र फ़डणवीस ने लगाया। इसलिए सरकार अब परेशानी में दिख रही है, इसकी चर्चा राजनीतिक गलियारो में हो रही थी। हालांकि अब यह दाव भाजपा पर ही उल्टा पड़ने की संभावना डॉ जितेंद्र आव्हाड के ट्वीट से निर्माण हुई है।

बुधवार को मंत्रिमंडल की बैठक के बाद डॉ जितेंद्र आव्हाड ने रश्मि शुक्ला पर जोरदार टिप्पणी करते हुए कई महत्वपूर्ण मुद्दो पर ध्यान केंद्रित किया है। अब उन्होंने कहा है कि निर्दलीय उम्मीदवार को महाविकास आघाडी से दूर करने की कोशिश रश्मि शुक्ला ने की थी। इस आरोप के बाद भाजपा की परेशानी बढ़ती दिख रही है।

जितेंद्र आव्हाड ने ट्वीट में लिखा है कि शिरोल के निर्दलीय उम्मीदवार राजेंद्र येड्रावकर पर दबाव डाला गया कि वे महाविकास आघाडी में न जाकर भाजपा के साथ रहे। इसके लिए रश्मि शुक्ला ने उनसे व्यक्तिगत मुलाकात की। उन्होंने फोन किया और दबाव डालने की कोशिश की। और क्या सबूत चाहिए।

You might also like

Comments are closed.