राम मंदिर….चंदा से इक्कठा हुआ 1500 करोड़ से ज्यादा  

नई दिल्ली. ऑनलाइन टीम : अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए अब तक पंद्रह सौ करोड़ रूपये से ज्यादा का चंदा इकट्ठा हो चुका है। न्यास सचिव स्वामी गोविंद देव गिरि ने कहा कि पूरा देश धनराशि दान कर रहा है। हमारा उद्देश्य है कि हमारे देश में 4 लाख गांव और 11 करोड़ परिवार हमारे दान अभियान के दौरान पहुंचें। हम 15 जनवरी से दान अभियान का संचालन कर रहे हैं। 27 फरवरी तक इसे जारी रखेंगे। लोग ट्रस्ट में योगदान दे रहे हैं। 492 साल बाद, लोगों को धर्म के लिए कुछ करने के लिए फिर से ऐसा मौका मिला है।”

श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र सेक्रेट्री चंपत राय ने कहा है कि विश्व हिंदू परिषद के करीब 1.5 लाख कार्यकर्ता मंदिर के फंड जुटाने में लगे हुए हैं। इनमें से 37 कार्यकर्ता ऐसे हैं जो बैंक अकाउंट में चंदे से मिली राशि को जमा करने में लगे हुए हैं। ये कार्यकर्ता देश के दूर दराज इलाकों से फंड जमा करके उन्हें बैंक के अकाउंट में जमा कर रहे हैं। चंपत राय ने आगे कहा कि राम मंदिर के लिए देश के सभी समुदाय बढ़-चढ़ कर अपनी भागीदारी निभा रहे हैं। यह अभियान 15 जनवरी को शुरू हुआ था।

इस अभियान से जुटाए गए पैसों को जमा करने के लिए राम मंदिर ट्रस्ट ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा में अकाउंट खोले हैं। चंपत राय ने कहा कि बहुत से दान दाताओं द्वारा दी गई धनराशि अभी तक बैंक अकाउंट में नहीं पहुंची है, क्योंकि इसमें समय लग रहा है। प्रतिदिन आंकड़ों में परिवर्तन होने से संग्रह राशि की सही जानकारी बता पाना संभव नहीं है, लेकिन चेक और कूपन के जरिए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि 1500 करोड़ रुपये रामलला के अकाउंट में आ चुके हैं। अगर मंदिर निर्माण की चल रही गतिविधियों पर नजर डालें तो अब तक 5 मीटर की खुदाई हो चुकी है।

याद रहे, 9 नवंबर, 2019 को, भारत के तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई वाली सुप्रीम कोर्ट की बेंच के पांच-न्यायाधीशों ने राम लल्ला के पक्ष में फैसला सुनाया था और कहा था कि 2.7 एकड़ में फैली पूरी विवादित भूमि को एक ट्रस्ट द्वारा गठित ट्रस्ट को सौंप दिया जाएगा।

You might also like

Comments are closed.