Rajesh Tope | घबराएं नहीं! अभिभावक बिना डरे बच्चों को स्कूल भेजें- स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे

जालना : Rajesh Tope | कोरोना संक्रमण (Corona Infection) बड़े पैमाने पर शुरू है, ऐसे में युरोप के स्कूल खुले हैं। महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या ज्यादा है, फिर भी अस्पताल में 90 से 95 % बेड खाली है। भर्ती होनेवालों की संख्या बहुत कम है। इसलिए सभी बातों को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार (State Government) ने स्कूल शुरू (School Reopen)  करने का फैसला लिया है। अभिभावक बिना डरे बच्चों को स्कूल भेजें, ऐसी अपील स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Rajesh Tope) ने की है।

 

मंत्री टोपे (Rajesh Tope) ने रविवार को जालना (Jalna) में एक कार्यक्रम के लिए आए थे। उस समय मीडिया से बात की। उनसे सवाल पूछा गया कि अभिभावक बच्चे को स्कूल (School) भेजने में टालमटोल कर रहे हैं। तब उन्होंने कहा कि यूरोप (Europe) में भी कोरोना की तीसरी लहर (Corona Third Wave) शुरू है, लेकिन वहाँ स्कूल शुरू हैं। लगातार स्कूल बंद रहने से बच्चों का नुकसान हो रहा है। बच्चों का बौद्धिक व सर्वांगीण विकास करने का समय होता है। इस दौरान अगर बच्चे घर पर रहे तो उनका बड़ा नुकसान होगा।

 

इसलिए सभी बातों का विचार कर सरकार ने स्कूल शुरू (School Reopen) करने का फैसला लिया। इस बीच संक्रमित मरीज जिस जिले में अधिक संख्या में है, वहां स्थानीय प्रशासन (Local Administration) व पालकमंत्री ने स्कूल शुरू करने को लेकर फैसला किया है। स्कूल में आनेवाले बच्चों को उचित ध्यान रखने का आदेश दिया है, अगर कोई कोरोना संक्रमित मरीज (Corona Infected Patient) मिला, तो अन्य की जांच करने का आदेश दिया है।

 

राज्य के अस्पताल में 90 से 95 प्रतिशत बेड खाली है। आईसीयू (ICU) या ऑक्सीजन बेड  (Oxygen bed) 95 % खाली है। 90 प्रतिशत संक्रमित लोग होम आइसोलेशन (Home Isolation) में हैं। इसलिए अगर ऐसा ही रहा तो मुख्यमंत्री के सुझाव के अनुसार प्रतिबंध भी कम हो सकते हैं। वैक्सीनेशन (Vaccination) को लेकर कोई सख्ती नहीं है, लेकिन ज्यादा से ज्यादा लोग वैक्सीनेशन कराएं, ऐसी अपील राजेश टोपे ने की है।

 

 

 

Maharashtra School Reopen | कोरोना के कहर के बीच एक बार फिर से महाराष्ट्र में खुले स्कूल

Pune | पुणे-अहमदनगर रोड पर भयानक सड़क हादसा, 5 की मौत

You might also like

Comments are closed.