अवैध रेत खनन पर छापा; 1.31 करोड़ का माल जब्त

13 आरोपी हिरासत में; क्राइम ब्रांच की कार्रवाई
पिंपरी। अवैध रेत खनन मामले में पिंपरी चिंचवड़ पुलिस की क्राइम ब्रांच के डकैती विरोधी दस्ते ने एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए 13 लोगों को हिरासत में लेकर एक करोड़ 31 लाख 28 हजार रुपए का माल जब्त किया है। दिघी पुलिस थाने की सीमा में चऱ्होली गांव में इंद्रायणी नदी किनारे यह कार्रवाई की गई है। इससे रेत माफियाओं में खलबली मच गई है।
इस कार्रवाई में केतन रामदास कोलते, योगेश सुरेश वालुंज, संदेश नंदकुमार कारले, दीपक भाऊसो येले, अजहर मजहर शेख, अंकुश अजयराम कुमार, अतुल बाबाजी येले, अर्जुन जीवन चव्हाण, सोमल मौलानी पठाण, सुधीर बालू राठोड, विलास सुद्राम येले, सारीक आरिफ पठाण, रविकुमार श्रीराम धारीराम नामक आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। ये सभी वाहनचालक और कर्मचारी हैं। केतन कोलते, सतीश लांडगे और अजय इस मामले के मुख्य सूत्रधार हैं जिनमें से सतीश और अजय फरार हैं।
इस कार्रवाई की जानकारी देते हुए पुलिस आयुक्त कृष्ण प्रकाश ने शनिवार को एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि, इंद्रायणी नदी पाट में से अवैध रूप से रेत खनन जारी रहने की गुप्त जानकारी मिलने के बाद क्राइम ब्रांच के सहायक आयुक्त प्रशांत अमृतकर को कार्रवाई के आदेश दिए गए। उन्होंने डकैती विरोधी दस्ते के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक उत्तम तांगडे, सहायक निरीक्षक प्रशांत महाले, उपनिरीक्षक शाकिर जीनेडी, अंमलदार महेश खांडे, औदुंबर रोंगे, उमेश पुलगम, नितीन लोखंडे, आशिष बनकर, प्रवीण माने, गणेश कोकणे, संदीप पाटील, विजय नलगे, गणेश गिरी गोसावी, प्रदीप शेलार के समावेशवाली टीम के साथ यहां छापा मारा।
इस छापेमारी में शुक्रवारी मध्यरात्रि चऱ्होली गांव में नदी पाट से रेत खनन होता पाया गया। पुलिस टीम ने यहां से 2 पोकलेन, 4 ट्रैक्टर, ट्रॉली, 14 ब्रास रेत, 1 दोपहिया आदि जब्त किया। पुलिस आयुक्त ने कहा कि इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच को ही सौंपी गई है। इसमें शामिल आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पिंपरी चिंचवड़ में अवैध रेत खनन के खिलाफ यह पहली कार्रवाई है। पुलिस आयुक्त कृष्ण प्रकाश ने शहरवासियों से अपील की है कि, शहर में कहीं भी कोई अवैध धंधे या गलत काम हो रहा हो तो उसकी जानकारी पुलिस को दें, आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
You might also like

Comments are closed.