Loading...

भोसरी अस्पताल की गैस पाइपलाइन के दर्जे पर सवाल

खुद उपमहापौर तुषार हिंगे ने गिनाई खामियां

Loading...
पिंपरी। सँवाददाता : शुरू से ही विवादों के घेरे में रहे पिंपरी चिंचवड़ मनपा के भोसरी अस्पताल में अब नया विवाद सामने आने के आसार हैं। इस अस्पताल में मेडिकल गैस पाइपलाइन डालने के लिए कोटेशन मंगाए गए हैं, इसमें पाइपलाइन के लिए जो शर्तें तय की गई हैं, उससे उसके दर्जे पर सवालिया निशान खड़ा हो रहा है। यह सवाल किसी और ने नहीं बल्कि खुद सत्तादल भाजपा के उपमहापौर तुषार हिंगे ने लगाया है और कोटेशन में रही खामियों को गिनाया है।
Loading...
उपमहापौर ने मनपा आयुक्त श्रावण हर्डीकर को एक ज्ञापन सौंपा है, जिसमें कहा गया है कि, मनपा के चिकित्सा विभाग ने भोसरी के नए अस्पताल में मेडिकल गैस पाइपलाइन के काम की टेंडर प्रक्रिया के लिए कोटेशन मंगाए हैं। इसमें चिकित्सा विभाग ने जो तकनीकी शर्तें तय की है, उसमें कई खामियां हैं। इस क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञों ने भी इसकी पुष्टि की है। तकनीकी शर्तों में मेडिकल कॉन्सिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) के दर्जात्मक मानक तय किए हैं। इनमें से दो मुद्दे मेडिकल गैस पाइपलाइन के बारे में लागू नहीं होते हैं।
Loading...
उपमहापौर हिंगे ने आरोप लगाया है कि चिकित्सा विभाग ने विशिष्ट सप्लायर्स को ध्यान में लेकर अन्य सप्लायर्स को भ्रमित बनाने की कोशिश की है। हीन दर्जे की पाइपलाइन डालने पर भविष्य में किसी दुर्घटना के घटने से इंकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने मनपा आयुक्त से इस कोटेशन को रद्द कर वैश्विक स्तर और अत्याधुनिक तकनीक से परिपूर्ण पाइपलाइन डालने की मांग की है। एमसीआई के नियमों व मानकों के अनुसार ही कार्यवाही की जाय, इसके इस क्षेत्र के विशेषज्ञों से राय-मशवरा किया जाय, आदि मांगें भी हिंगे ने की है।
Loading...

Comments are closed.