Pune | पुणे में चाचा-भतीजे के गैंग दवारा ‘मुलशी पैटर्न’ से  कब्जाई 113 एकड़ जमीन मुक्त कराई

पुणे/मुंबई, 15 सितंबर : Pune | भाजपा विधायक गोपीचंद पडलकर (Gopichand Padalkar) हमेशा राष्ट्रवादी कांग्रेस के अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) और उनके परिवार पर निशाना साधते है।  खास बात यह है कि कुछ महीने पहले जेजुरी किले में जेजुरी मंदिर (Jejuri Temple) में बने अहिल्याबाई होलकर के पुतले का अनावरण को लेकर भी उन्होंने बड़ा विवाद किया था।  इसके बाद अब जेजुरी मंदिर (Pune) के जमीन को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के निर्णय पर आभार जताते हुए फिर से पवार  परिवार पर हमला करते नज़र आ रहे है।

 

खंडेराय के जेजुरी किले पर जेजुरी मंदिर में बने पुण्यश्लोक अहिल्याबाई होलकर (Ahilyabai Holkar) के पुतले का अनावरण आज  शरद पवार और छत्रपति संभाजीराजे की उपस्थिति में होना था।  लेकिन उद्घाटन के दिन सुबह गोपीचंद पडलकर अपने कार्यकर्ताओं के साथ जेजुरी किले  में पहुंचे और उन्होंने अहिल्याबाई होलकर के पुतले का  अनावरण करने का प्रयास किया।  इसे लेकर उनके कार्यकर्ताओं और मंदिर के कर्मचारियों के बीच हाथापाई हो गई।  इसके बाद गोपीचंद पडलकर ने घोषणा की कि अहिल्याबाई होलकर के पुतले का  अनावरण हो गया है।  अब यहां की जमीन को लेकर ट्वीट कर महत्वपूर्ण जानकारी दी है।

उन्होंने कहा कि मैं सुप्रीम कोर्ट का आभार मानता हूं। क्योंकि श्री मल्हारी मार्तंड खंडोबा के भक्तों ने पारंपरिक रूप से मिले भगवान की जमीन चाचा-भतीजे गैंग ने मुलशी पैटर्न (Mulshi Pattern) के तहत कब्ज़ा किये गए 113 एकड़ जमीन मुक्त हो गई है।  अब जल्द ही इसकी सच्चाई सामने आएगी।  पडलकर ने किसी का नाम नहीं लिया है।  लेकिन उनके दवारा हमेशा पवार परिवार पर निशाना साधा जाता है।

 

 केस दर्ज

 

इस बीच गोपीचंद पडलकर के खिलाफ जेजुरी पुलिस स्टेशन (Jejuri Police Station) में केस दर्ज किया गया है।  सरकारी काम में अड़चन पैदा करने, जमावबन्दी का उल्लंघन करने और पुलिस के साथ हाथापाई करने के मामले में जेजुरी पुलिस (Jejuri Police) ने खुद केस दर्ज किया है।

 

 

 

Pune | ….आख़िरकार रिंगरोड के सड़क में बदलाव और पुणे के मावल तालुका की भंडारा पहाड़ी बची ; उपमुख्यमंत्री अजीत पवार की बैठक में निर्णय

Pune | अतिक्रमण की चपेट में पुणे-सतारा रोड

You might also like

Comments are closed.