Pune : पुणे महापालिका ने काम से पहले ही ठेकेदार को दिए 90% एडवांस, उलट-फुलट चर्चा शुरू

पुणे : ऑनलाइन टीम – बिबवेवाड़ी-कोंढवा मार्ग पर स्थित सूर्यप्रभा गार्डन क्षेत्र में भूमिगत विद्युत केबल बिछाने का कार्य चल रहा है। यह काम पिछले साल के बजट में दिया गया था। इस काम के 90 फीसदी पैसे ठेकेदार को दे दिए गए हैं। लेकिन अब काम शुरू होते ही अजीब बात सामने आई है।

19 मार्च, 2020 को अंडरग्राउंड बिजली केबल बिछाने का कार्यादेश जारी किया गया था। काम पूरा करने के लिए दो माह का समय दिया गया है। 19 मई तक काम पूरा होने की उम्मीद थी। लेकिन, उसके बाद भी इस जगह पर सड़क के किनारे खुदाई कर केबल बिछाने का काम जारी है। गौरतलब है कि नगर निगम ने 24 घंटे जलापूर्ति योजना को छोड़कर 31 मई को सभी उत्खनन कार्य बंद करने का आदेश दिया है। तब पता चला है कि यह काम चल रहा है।

इस संबंध में नगर पालिका ने खुलासा किया है कि कोरोना के कारण काम में देरी हुई है। खुदाई के लिए पथ विभाग से भी अनुमति मांगी गई है। नगर पालिका ने कहा कि इस कार्य के लिए सामग्री की खरीद के लिए ठेकेदार को 90 प्रतिशत अग्रिम भुगतान किया जा चुका है। नगर पालिका ने ठेकेदार की ओर से कहा कि उसने पथ विभाग से खुदाई के लिए अनुमति मांगी थी। लेकिन, पथ विभाग ने कहा कि बारिश शुरू होने के कारण शहर में खुदाई स्थगित कर दी गई है।
इसलिए विपक्ष नगर पालिका के इस अजीबोगरीब आचरण की जांच की मांग कर रहा है।

ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करेंगे अधिकारी –
नगर निगम के अतिरिक्त आयुक्त डॉ. कुणाल खेमनार ने कहा कि मानसून की शुरुआत के कारण शहर में जलापूर्ति और आवश्यक कार्यों को छोड़कर सभी खुदाई 31 मई को रोक दी गई है। शहर में खुदाई की गई है और साइट पर मरम्मत का काम किया जा रहा है। इसके बाद भी यदि खुदाई की जा रही है तो संबंधित अधिकारी व ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

You might also like

Comments are closed.