Pune | पुणे में नाबालिग लड़की संग गैंगरेप की घटना बेहद शर्मनाक : अजित पवार

मुंबई – Pune | एक दोस्त से मिलने मुंबई जा रही 14 वर्षीय लड़की को पुणे रेलवे स्टेशन (Pune Railway Station) पर छोड़ने के बहाने एक रिक्शा चालक ने अगवा कर लिया। फिर एक अन्य दोस्त की मदद से उसे अलग-अलग जगहों पर लेकर उसके साथ सामूहिक बलात्कार (Gang Rape) किया गया। यह सब तब सामने (Pune) आया जब लड़की को उसके पिता द्वारा दर्ज कराए गए गुमशुदगी के मामले की जांच के दौरान चंडीगढ़ से पुलिस (Police) ने गिरफ्तार (Arrest) किया।

पीड़िता को पुणे (Pune) के शिवाजीनगर, पुणे स्टेशन और खड़की इलाके में लॉज और अन्य जगहों पर ले जाया गया और बलात्कार किया गया। इस बीच पुणे में एक नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार  (Rape) की घटना शर्मनाक और अपमानजनक है। इस मामले के अधिकांश आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है इसकी जानकारी उपमुख्यमंत्री अजीत पवार (Ajit Pawar) ने दी।

पवार ने कहा- बाकी आरोपियों की खोज युद्धस्तर पर किया जा रहा है। जल्द उन्हें भी गिरफ्तार किया जायेगा। राज्य सरकार (State Government) इस बात का पूरा ध्यान रखेगी कि सभी आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए। पुलिस को जल्द कार्रवाई का निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा कि अपराध में रेल कर्मचारियों (railway employee) की संलिप्तता को देखते हुए रेल राज्य मंत्री से संपर्क कर ऐसी प्रवृत्तियों को रोकने में सहयोग करने का अनुरोध किया जाएगा।

क्या है पूरा मामला –

वानवड़ी पुलिस (Wanawadi Police) ने मामले में आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। और अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है। इसमें दो रेलवे कर्मचारी, पांच रिक्शा चालक और अन्य आरोपी भी शामिल हैं। सबसे गंभीर प्रकार यह है कि लड़की को दो दिनों तक प्रताड़ित किया गया। उसके साथ पहले दिन चार और दूसरे दिन पांच लोगों ने दुष्कर्म (Rape) किया।

मशाक अब्दुलमजिद कान्याल (27, रा. वैदुवाडी, हडपसर), अकबर उमर शेख (32,  जुना बाजार, मंगळवार पेठ), रफिक मुर्तजा शेख (32, मंगळवार पेठ), अजरुद्दीन इस्लामुद्दीन अन्सारी (27, कासेवाडी), प्रशांत सॅमियल गायकवाड (32, ताडीवाला रोड), राजकुमार रामनगीना प्रसाद (29, घोरपडी गाव), नोईब नईम खान (24, बोपोडी), असिफ फिरोज पठाण (36, लोहीयानगर) ऐसे गिरफ्तार किये गए आरोपियों के नाम है। आरोपियों को 16 सितंबर तक पुलिस कस्टडी (police custody) में भेज दिया गया है।

पुलिस के मुताबिक, पीड़िता बिहार की रहने वाली है। उसके पिता वानवड़ी (wanwadi) में माली का काम करते हैं। वह अपने माता-पिता के साथ रहती है। 31 अगस्त को युवती अपने दोस्त से मिलने बिहार गई थी। वह अपने परिवार को बिना बताए पुणे थाना क्षेत्र आई थी। लेकिन, वो दोस्त कभी नहीं आया। रात में भी कोई ट्रेन नहीं थी। देर रात तक वह थाना क्षेत्र में घूम रही थी। आरोपी की नजर उस पर पड़ी। उसने कहा कि वह उसके लिए रात रुकने की व्यवस्था करेगा और कल उसे ट्रेन में बिठा देगा। तो वह रिक्शा वाले के साथ चली गई।

ऑटोरिक्शा चालक रास्ते में एक अन्य ऑटोरिक्शा चालक को ले गया। वहां से उसे एक लॉज ले जाया गया। वहां दो युवकों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। उसके बाद दो अन्य रिक्शा चालकों ने उसे प्रताड़ित किया। इस दौरान युवक ने परिजनों को किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद उन्होंने उसे अगले दिन अन्य लोगों को सौंप दिया। अगले दिन पांच लोगों ने उसे प्रताड़ित किया। लड़की तब ट्रेन से मुंबई और वहां से चंडीगढ़ गई थी।

 

 

Sharad Pawar | सरसंघचालक के ‘उस’ बयान से मेरी जानकारी बढ़ गई : शरद पवार

Sharad Pawar | शरद पवार अब से सार्वजनिक कार्यक्रमों में नहीं होंगे शामिल!

You might also like

Comments are closed.