Pune Shopping Mall | कोविड में हमारा 15 हजार करोड़ रुपये का नुकसान; मॉल पूरी तरह से शुरू करने की अनुमति दें

पुणे शहर शॉपिंग मॉल

पुणे (Pune News) : पुणे शहर के शॉपिंग मॉल (Pune Shopping Mall) में बाहरी एजेंसी के माध्यम से कर्मचारी सहित 76 हजार लोग काम करते हैं। कोविड प्रतिबंध (Covid restriction) की वजह से उद्योग में लगभग 15 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। छोटे सटोर्स और रेस्टोरेंट में काम करनेवाले लगभग 80 % कर्मचारी आर्थिक रूप से कमजोर हैं और उनकी आजीविका पर सबसे ज्यादा असर हुआ है। इसलिए शहर के सभी मॉल (Pune Shopping Mall ) पूरी क्षमता से शुरू करने के लिए प्रशासन अनुमति दें, यह मांग शॉपिंग सेंटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (Shopping Centers Association of India) (एससीएआई) की ओर से की गई है।

 

पुणे के सभी मॉल में काम करनेवाले छोटे विक्रेता और कर्मचारी अमनोरा मॉल (Amanora Mall) बाहर जमा हुए और काम के अधिकार की असमानता का विरोध किया। मॉल (Mall) के लगभग 200 कर्मचारियों ने शुक्रवार दोपहर 4 बजे आंदोलन किया। राज्य सरकार (State government) से उन्होंने काम करने का समान अधिकार देने की मांग की।

 

शॉपिंग सेंटर इंडस्ट्री मॉल (Shopping Center Industry Mall), रिटेल और मैन्युफैक्चरिंग रिट्ल से संबंधित प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से 1.2 करोड़ लोगों को आजीविका का आधार देता है।  इस क्षेत्र में काम करनेवाले बहुत सारे कर्मचारी अन्य राज्य से आते हैं। अनेक कर्मचारियों को काम से निकाला गया है और कर्मचारी के सामने बेरोजगारी और जीवनयापन की बहुत बड़ी समस्या है।

 

बहुत सारे कर्मचारी को कोई विकल्प न मिलने के कारण वे बेरोजगार हैं। वैकल्पिक आय का श्रोत न होने के कारण इन कर्मचारियों और उनके परिवार के पास जीवनयापन का कोई साधन नहीं रहेगा।

अगर कोविड प्रतिबंध शुरू रहा तो बेरोजगारी की समस्या और बढ़ सकती है। वे मॉल (Mall) के मालिक की ओर उम्मीद से देख रहे हैं, लेकिन यह बहुत दुखद है कि हम असहाय हैं।

 

 सुरजीत सिंह राजपुरोहित, समिति सदस्य, शॉपिंग सेंटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया

 

 

Pune Municipal Administration | सड़क पर पड़े गड्ढों को भरने का काम प्रशासन ने किया शुरू

Drainage Water Project | पुणे महापालिका की ‘जायका’ परियोजना आखिरकार होगी शुरू

 

 

You might also like

Comments are closed.