Pune | रिंगरोड; भंडारा पहाड़ी में टनल नहीं 

इंदोरी (Indori News), 16 सितंबर : महाराष्ट्र राज्य विकास बोर्ड (Maharashtra State Development Board) (एमएसआरडीसी) ने पुणे (Pune) जिले के ग्रामीण क्षेत्र में प्रस्तावित 110 मीटर चौड़ी रिंगरोड (Ring Road) मावल (Maval) के श्रीक्षेत्र भंडारा पहाड़ी (Bhandara Hill) को तोड़कर अथवा टनल (Pune) को गिराकर बनाया जाना था।  लेकिन इसका तीव्र विरोध होने की वजह से सरकार ने यह निर्णय बदलकर भंडारा पहाड़ी के बगल से रिंगरोड के गुजरने का निर्णय मुंबई में उपमुख्यमंत्री अजीत पवार (Ajit Pawar) की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में लिया गया।  इस बैठक में संबंधित जनप्रतिनिधि और अधिकारी उपस्थित थे।

 

इस निर्णय पर  मावल की जनता, भारतीय किसान संघ, भंडारा पहाड़ी मंदिर, पंचक्रोशी व वारकरी संप्रदाय में ख़ुशी जाहिर की है।  इस निर्णय का स्वागत पूर्व राज्य मंत्री बाला भेगडे (Bala Bhedge), किसान संघ के जिला अध्यक्ष शंकरराव शेलार (Shankarrao Shelar), मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष बालासाहेब काशीद (Balasaheb Kashid), किसान संघ तालुका अध्यक्ष शिवाजी पवार (Shivaji Pawar), अनंत चंद्रचूड़ (Anant Chandrachud) ने किया है। रिंगरोड में भंडारा पहाड़ी के टनल को गिराने का प्रस्ताव था।

इसका भंडारा पहाड़ी ट्रस्ट (Bhandara Pahari Trust), भारतीय किसान संघ (Indian Farmers Association) विरोध कर रहा था।  पहाड़ी के अस्तित्व पर खतरा उत्पन्न न हो व भक्तों के श्रद्धास्थल को नुकसान न पहुंचे इसके लिए कई निवेदन दिए गए थे।  कई बार अधिकारियों के साथ बैठक की गई।  27 अगस्त को पीएमआरडीए के आयुक्त के साथ पूर्व राज्य मंत्री बाला भेगडे (Bala Bhegde) ने कृति समिति के साथ चर्चा कर अपना विरोध जताया था।  सभी जनता की भावना व विनती का मान रखते हुए सरकार ने मूल निर्णय में बदलाव कर भंडारा पहाड़ी के बगल से रिंगरोड (Ring Road) और इसके अनुसार सर्वे करने का निर्णय लिया है।

 

 

 

Solapur Railway Division | सोलापुर मंडल पर तकनीकी कार्यों के कारण ट्रेन रद्द

Pune | पुणे में रात दस बजे के बाद नाकाबंदी; गणेश दर्शन के लिए भीड़ बढ़ने के कारण बिना वजह घूमने वालों से होगी पूछताछ

You might also like

Comments are closed.