Pune | छत्रपति शिवाजी महाराज पर रिसर्च सेंटर बनेगा 

पुणे (Pune News) : Pune | सावित्रीबाई फुले पुणे यूनिवर्सिटी (Savitribai Phule Pune University) ने छत्रपति शिवाजी महाराज (Chhatrapati Shivaji Maharaj) की युद्ध नीति, प्रशासन और उनके जीवन की घटना की समीक्षा करने वाला एक कोर्स शुरू किया है।  इसके अगले चरण में  छत्रपति शिवाजी महाराज के जीवन पर रिसर्च करने के लिए इच्छुक विद्यार्थियों के लिए रत्नागिरी (Ratnagiri) में रिसर्च सेंटर (Research Centre) और दुनिया भर में सबसे अच्छा ग्रंथालय बनेगा।  यह घोषणा उच्च व तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सावंत (Education Minister Uday Sawant) ने शुक्रवार को पुणे (Pune) में की।

 

डॉ. ज्ञानेश्वर मुले (Dr. Dnyaneshwar Mule) लिखित माती पंख आणि  आकाश को गुजरात साहित्य अकादमी (Gujarat Sahitya Akademi) का पुरस्कार मिला है।  इसी वजह से डॉ. मुले को सावंत के हाथों सम्मानित किया गया।  इस दौरान सावंत ने कहा कि रत्नागिरी में शिवाजी महाराज पर रिसर्च किया जाएगा।  संवाद पुणे की तरफ से इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।  इस मौके पर राज्य साहित्य और संस्कृति मंडल के अध्यक्ष डॉ. सदानंद मोरे (Dr. Sadanand More), सावित्रीबाई फुले पुणे यूनिवर्सिटी के कुलगुरु डॉ. नितिन करमळकर (Dr. Nitin Karmalkar), संवाद पुणे के अध्यक्ष सुनील महाजन (Sunil Mahajan), निकिता मोघे (Nikita Moghe), सचिन इटकर (Sachin Itkar) आदि उपस्थित थे।
सावंत ने कहा कि रत्नागिरी के रिसर्च सेंटर में विश्व स्तर का भव्य ग्रंथालय (Library) बनाया जाएगा।  देश के इतिहास की पुस्तक इस ग्रंथालय में उपलब्ध होगी।
डॉ. सदानंद मोरे ने कहा कि डॉ. मुले ने सफलता के जरिये आसमान को छुया है लेकिन फिर भी मिट्टी से उनका रिश्ता टूटा नहीं।   मौके मांगने से  नहीं मिलते  है, बल्कि वह खुद चलकर आपके पास आता है।  साहित्य संस्कृति मंडल (Sahitya Sanskriti Mandal) के जरिये जल्द प्रबोधनकार ठाकरे की जन्मशताब्दी के मौके पर प्रबोधन नाम से नियतकालिक के सौवें अंक का विमोचन किया जाएगा।
सम्मान पर डॉ. मुले ने कहा कि दिल्ली (Delhi) में महाराष्ट्र (Maharashtra) झलकना चाहिए। यह हमारी कई वर्षों से इच्छा है।  सफलता के लिए सौ कदम उठाने की प्रतिज्ञा ली जाती है लेकिन सौ कदम चलने में मराठी युवाओं को अखरता है। इसलिए मराठी व्यक्ति पीछे रह गए  है।
महाराष्ट्र को देश का  नेतृत्व करने का मौका मिलना चाहिए।  राजनीति बुरी नहीं है।  सभी अच्छे लोग राजनीति में जरूर आये।  समाज में परिवर्तन होना चाहिए।

 

 

School Reopen | 4 अक्टूबर से स्कूल शुरू, अभिभावक पर बड़ी जिम्मेदारी; शिक्षा मंत्री ने दी गाइडलाइंस की जानकारी

Weather Forecast | राज्य में अगले 4 दिनों में भारी बारिश की संभावना : मौसम विभाग की चेतावनी

You might also like

Comments are closed.