Pune Rains | पुणे जिले में मूसलाधार बारिश का असर; साढ़े चार हेक्टेयर खेती का नुकसान: जिलाधिकारी डॉ. राजेश देशमुख

पुणे: (Pune Rains) जिले में प्रमुख रूप से पहाड़ की चोटी पर पिछले 2-3 दिनों में हुए मूसलाधार बारिश और बादल फटने जैसी बारिश (Pune Rains) की वजह से जइले में लगभग साढे चार हजार हेक्टेयर खेत व उस खेत में लगे फसल व जमीन का नुकसान हुआ है। यह सिर्फ प्रारंभिक अंदाजा है। नुकसान का पंचनामा करने का आदेश दिया गया है। सप्ताह भर में पंचनामा की अंतिम रिपोर्ट मिलेगी। यह जानकारी जिलाधिकारी डॉ. राजेश देशमुख (District Magistrate Dr. Rajesh Deshmukh) ने दी है।

पुणे जिले में खेड, आंबेगाव, जुन्नर, भोर, वेल्हे, मावल मुलशी पश्चिम घट में मूसलाधार बारिश हुई है। तेज बारिश की वजह से मावल इलाके के धान की फसल साथ ही जमीन का बांध टूटने, जमीन बह जाने जैसा नुकसान हुआ है। प्राथमिक अंदाज के अनुसार साढ़े चार हेक्टेयर जगह की फसल और कुछ पैमाने पर जमीन का नुकसान हुआ है। प्रत्यक्ष रूप में पंचनामा की अंतिम कार्यवाही पूरा होने के बाद नुकसान का सही आंकड़ा सामने आएगा।

इस बारे में देशमुख ने कहा कि, गांव स्तर पर तलाठी, सर्कल, कृषि सहायक, ग्राम सेवक के माध्यम से पंचनामा की कार्यवाही की जाएगी। अभी भी कुछ इलाके में बहुत बारिश हो रही है। है। इसलिए पंचनामा करने में परेशानी हो रही है। थोड़ी राहत मिलने के बाद पंचनामा की कार्यवाही पूरी की जाएगी।

PMC Election | पुणे मनपा में शामिल हुए 23 गांवों से सिर्फ दो नगरसेवक

शहर के आसपास के 23 गांवों को मनपा में शामिल करने के साथ, वहां से कई उम्मीदवार मनपा में नगरसेवक के रूप में चुने जाने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। हालाँकि, चूंकि यह चुनाव 2011 (Election 2011) की जनगणना के अनुसार होगा, इसलिए मनपा (PMC Election) में सिर्फ 2 नगरसेवकों की संख्या बढ़ाई जाएगी।

राज्य सरकार ने 23 गांवों को पुणे मनपा की सीमा में शामिल करने की अधिसूचना जारी कर दी है। यह भी स्पष्ट किया गया है कि इन गांवों की विकास योजना पीएमआरडीए द्वारा तैयार की जाएगी। फिलहाल मनपा कचरा, जलापूर्ति, बिजली व आयकर विभाग की ओर से काम कराया जा रहा है। 

You might also like

Comments are closed.