Pune | अतिक्रमण की चपेट में पुणे-सतारा रोड

पुणे-सतारा रोड

पुणे (Pune News) : पुणे-सतारा रोड (Pune-Satara Road) पर, भोर और हवेली तालुकाओं की सीमा पर सतारा साइड (Pune) की सर्विस रोड को होटल के फ्लेक्स और चाय की दुकानों ने निगल लिया है। इसके चलते वाहन चालकों में काफी असमंजस की स्थिति बनी हुई है और दुर्घटना (Pune) की आशंका बनी हुई है। फिर भी हाईवे पुलिस (Highway Police) और नेशनल हाईवे अथॉरिटी (National Highway Authority) और रिलायंस इंफ्रा (Reliance Infra) इसकी अनदेखी कर रहे हैं।

पुणे-सतारा रोड पर सतारा साइड रोड (Satara Side Road) पर भोर और हवेली तालुका सीमाओं के लगभग आधा किलोमीटर सर्विस रोड अतिक्रमण (Encroachment) की चपेट में पाया गया है। दिन में यहां होटल के साइन बोर्ड और वाहन खड़े रहते हैं। वहीं रात भर चाय के स्टॉल सर्विस रोड (Service Road) पर लगे रहते हैं। इससे वाहन चालक भ्रमित हो रहे हैं और दुर्घटना की आशंका बनी हुई है।

रात में यहाँ पर स्थित चाय टपरी पर चाय के लिए रुके यात्री अपने वाहन मुख्य सड़क पर पार्क करते हैं। इससे यहां खतरनाक स्थिति पैदा हो जाती है। फिर भी राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (National Highway Authority), राजमार्ग पुलिस ( Highway Police) इस खतरनाक स्थिति की आसानी से अनदेखी कर रही है। ट्रैफिक में बाधा बने सर्विस रोड पर अतिक्रमण को समय रहते नहीं हटाया गया, तो यहां किसी बड़े हादसे की आशंका लोग जता रहे हैं।

कोंढणपुर फाटे पर फ्लाईओवर (Flyover) और रियर सर्विस रोड (Rear Service Road) के बीच डिवाइडर बनाने के लिए करीब आधा किलोमीटर सड़क खोदी जा चुकी है। हालांकि पिछले कई सालों से सड़क खुदा हुआ ही है। यहां कई दुपहिया वाहन गिरकर हादसे के शिकार हो चुके हैं। फिर भी यहां डिवाइडर बनाने का काम अभी तक पूरा नहीं हुआ है। साथ ही कई जगह होटल व्यवसायियों ने मेन रोड और सर्विस रोड के बीच का डिवाइडर तोड़ दिया है। साथ ही यहां बारिश के पानी बहने के लिए गड्ढों को भरकर सड़क का निर्माण किया गया है। इसलिए यहां हादसे को न्योता दिया जा रहा है। फिर भी राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण और रिलायंस इंफ्रा (Reliance Infra) इसकी अनदेखी कर रहे हैं।

वहीं इसे लेकर राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की गश्ती टीम से संपर्क किया गया तो हम कार्रवाई कर रहे हैं। हालांकि, राजमार्ग पुलिस को भी सहयोग करना चाहिए, ऐसा उन्होंने कहा।

 

 

Maharashtra | आपके अंदर क्या चल  रहा है उसे देखे, सामना के हमले पर राणे का प्रहार

Maharashtra | आदिवासियों के लिए बनी योजना केवल कागजों पर ; हाईकोर्ट ने व्यक्त किया दुःख

You might also like

Comments are closed.