Pune | पुणेकरों को न तो कोरोना का डर, न ही दंडात्मक कार्रवाई का भय

पुणे (Pune News) : पुणेकरों (Pune) के सिर पर कोरोना की संभावित तीसरी लहर की तलवार अभी भी लटक रही है। नियमों का कड़ाई से पालन ही कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से बचाव का एकमात्र उपाय है, प्रशासन बार-बार यह कह रहा है। लेकिन इस बात को नजरअंदाज करते हुए आज भी कुछ पुणेकर (Pune) बिना मास्क (Mask) के सड़कों पर घूमते नजर आते हैं। न तो कोरोना की, न ही दंडात्मक कार्रवाई (Punitive Action) का डर, ऐसे संदेश अपनी करतूत से पुणेकर (Punekar) दे रहे हैं।

 

गणेशोत्सव (Ganeshotsav) के दौरान हो रही भीड़ के कारण अगले दस से बारह दिनों में पुणे (Pune) शहर में कोरोना मरीजों (Corona Patient) की संख्या बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। साथ ही राज्य सरकार (State Government) लगातार कोरोना की तीसरी लहर की चेतावनी दे रही है। हालांकि, तस्वीर यह है कि पुणे के निवासियों का इस चेतावनी या संभावित रूप से बढ़ रहे मरीजों की संख्या से कोई लेना-देना नहीं है।

 

शहर में गणेशोत्सव का आज आठवां दिन है। सड़कों पर गणेश भक्तों की संख्या छठे दिन से काफी बढ़ गई है। इतनी भीड़ में सामाजिक दूरी बनाए रखना संभव नहीं है। लेकिन कम से कम मास्क का इस्तेमाल करना और हाथों को बार-बार सैनिटाइजर से साफ करना संभव है। हालांकि, मास्क न पहनने, बिना मास्क के भीड़ में न जाने से बचने और दंडात्मक कार्रवाई (Punitive Action) से छुटकारा मिले, इस उद्देश्य से मास्क ठुड्डी पर लगाने वाले पुणेकरों (Punekar) की संख्या में काफी वृद्धि हुई है।

 

 

 

Pune | महावितरणपुणे शहर, जिले में एक दिन में 1066 बिजली चोरी का पर्दाफाश

Pune Municipal Corporation | पुणे मनपा कर्मचारियों के लिए पहले ही आ गई दिवाली

You might also like

Comments are closed.