Pune Police | अंमलदारों की समस्याएं पुलिस आयुक्त ने सुनी! स्थगित किए गए पुलिस के रिक्वेस्ट ट्रांसफर होंगे

पुणे : Pune Police | दशहरे के दिन पुलिस आयुक्त द्वारा आयोजित किए गए दरबार में विविध पदों पर कार्यरत अंमलदार रिक्वेस्ट ट्रांसफर (request transfer) को लेकर अपनी परेशानी रखी। उसे नोटिस करते हुए पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता ने जिन पुलिस अंमलदार के तबादले का अनुरोध एकदम जरूरी है, उनके लिए सर्वसाधारण तबादले को अप्रैल तक रोकने की कोई जरूरत नहीं है। इन अंमलदारों (Pune Police) के तबादले का निर्णय लिया है। ऐसा आदेश उन्होंने दिया है और 23 अक्टूबर तक अंमलदारों को पुलिस मुख्यालय में आवेदन प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है।

पुलिस की परेशानी को समझने के लिए आयुक्त द्वारा दरबार का आयोजन किया जाता है। 14 अक्टूबर को पुलिस मुख्यालय में दरबार का आयोजन किया गया था। उस समय अंमलदारों ने अपने रिक्वेस्ट ट्रांसफर को लेकर परेशानी बताई। पुलिस द्वारा दिए गए अनुरोध आवेदन प्रशासकीय सुविधा के लिए फाइल की गई।

जिन पुलिस अंमलदारों को तबादली की बहुत जल्दी है या आगामी सर्वसाधारण तबादले यानी कि 22 अप्रैल तक इंतजार करने में परेशानी है, ऐसे महत्वपूर्ण कारण वाले पुलिस अंमलदार के तबादले के आवेदन को नए रूप से मंगाए जाने का निर्णय लिया है। ऐसी परिस्थिति में अत्यंत महत्वपूर्ण कारण वाले पुलिस अंमलदार पुलिस मुख्यालय में मानव संसाधन विभाग के सहायक पुलिस आयुक्त रमाकांत माने के पास आवेदन करें। 23 अक्टूबर को शाम 6 बजे तक ये आवेदन कर सकते हैं। पुलिस अंमलदार पुलिस स्टेशन से पुलिस मुख्यालय व वापस पुलिस स्टेशन तक जाने के लिए 4 से 6 घंटे की सहुलियत प्रभारी अधिकारी दें। रिक्वेस्ट का स्थान 2021 के सर्वसाधारण तबादले के नियमों के अनुरूप होना चाहिए।

रिक्वेस्ट तबादले को लेकर सैंपल आवेदन भी जारी किया गया है। इच्छुक पुलिस अंमलदार को आवेदन से जुड़े कागजात/मेडिकल सर्टिफिकेट प्रस्तुत करना है। इस आवेदन पर विचार करने के लिए पुलिस आयुक्त आरती बनसोडे, सहायक पुलिस आयुक्त रमाकांत माने व रुक्मिणी गलांडे की समिति नियुक्त की गई है। समिति के सिफारिश के बाद प्राप्त आवेदन को लेकर आस्थापना मंडल उचित फैसला लेगा, ऐसा आदेश में कहा गया है।

Pune News | केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ. भारती पवार ने फर्स्ट एड  पॉलीक्लिनिक  का किया दौरा; लहु बालवडकर के काम की सराहना की

 

You might also like

Comments are closed.