Pune Police | पुणे के पुलिस इंस्पेक्टर ने इंटीरियर डेकोरेटर के कनपट‍्टी पर सटाया पिस्टल, मची खलबली

पुणे –  (Pune Police) इंटीरियर डेकोरेशन का काम ठीक से नहीं होने की बात कहकर पैसे वापस मांगते हुए पुणे पुलिस (Pune Police) के एक पुलिस निरीक्षक ने इंटीरियर डेकोरेटर (interior decorator) के कान के नीचे पिस्टल सटा देने की घटना सामने आयी है। संबंधित पुलिस निरीक्षक यातायात शाखा (Police Inspector Traffic Branch) में कार्यरत है। फ़िलहाल उनके खिलाफ समर्थ थाने में मामला दर्ज किया गया है। इससे पुणे पुलिस (Pune Police) में हड़कंप मच गया है।

आरोपी का नाम राजेश पुराणीक है। इस मामले में कार्तिक रामनिवास ओझा ने पुलिस इंस्पेक्टर के खिलाफ समर्थ थाने में शिकायत दर्ज कराई है। राजेश ने पिस्टल सटा कर उसके साथ मारपीट की। उस पर अपने परिवार के सदस्यों को मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया गया है। राजेश समर्थ परिवहन विभाग में इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत हैं।

शिकायतकर्ता की ओर से दायर शिकायत के अनुसार, ओझा को नाना पेठ इलाके में घर के इंटीरियर डेकोरेशन का काम दिया गया था, जहां आरोपी रह रहा था। घर का 70 फीसदी काम पूरा होने के बाद ओझा ने मजदूरों को पैसे देने के लिए आरोपी से पैसों की मांग की। उस दौरान आरोपी पुलिस ने ओझा को काम में गलतियां होने की बात कही। उन्होंने काम ठीक से नहीं होने की बात कहकर भुगतान करने से भी इनकार कर दिया। उन्होंने कानूनी कार्रवाई करने की भी धमकी दी। शिकायत में आरोप लगाया गया है कि वे पिछले आठ दिनों से तरह-तरह से धमका रहे हैं और पैसे की मांग कर रहे हैं और परिजनों को प्रताड़ित भी कर रहे हैं।

इस बीच पुराणिक ने ओझा को सभी दस्तावेजों के साथ समर्थ परिवहन विभाग तलब किया। आरोप है कि आरोपी पुलिस ने ओझा के साथ लाथघुसा से मारपीट की। इसके बाद उसके कान के नीचे पिस्टल रखकर दस्तावेजों पर हस्ताक्षर भी करवाए। मोबाइल जबरन ले लिए।  संपर्क में आए लोगों को गलत संदेश भेजा। जिसके बाद अब कार्तिक ओझा की बहन ने पुलिस आयुक्त कार्यालय में शिकायत अर्जी दाखिल की है। उन्होंने समर्थ थाने में शिकायत भी दर्ज कराई। इस शिकायत के आधार पर पुलिस निरीक्षक (परिवहन) राजेश पुराणिक के खिलाफ अपराध दर्ज किया गया है।

You might also like

Comments are closed.