Pune Police | पुणे पुलिस ने हफ्ताखोरों को किया गिरफ्तार, बिल्डर और उद्योगपति से मांगा था हफ्ता 

पुणे पुलिस

पुणे (Pune News), 24 सितंबर : Pune Police | शहर के एक बिल्डर के खिलाफ दायर  जनहित याचिका वापस लेने के लिए एक करोड़ रुपए का हफ्ता मांगने का मामला सामने आया है।  इस मामले में आरोपी राजेश बजाज (Rajesh Bajaj) व बापू शिंदे (Bapu Shinde) इन दोनों पर  उद्योगपति रवींद्र साकला  (Ravindra Sakala) ने 50 लाख का हफ्ता मांगने का केस दर्ज कराया है।  पिछले कुछ समय से इस तरह के मामले बढ़ रहे है।  वही पुणे पुलिस (Pune Police) भी ऐसे लोगों को गिरफ्तार (Arrest) कर उन पर अंकुश लगा रही है।

 

बिल्डर से हफ्ता मांगने वाले राजेश बजाज सहित चार लोगों के खिलाफ इस मामले में एंटी डिकोट स्क्वाइड (Anti Dicot Squad) ने केस दर्ज किया है।  इस मामले में राजेश उर्फ़ बॉबी खैरातीलाल बजाज उर्फ़ सचदेव (नि – अकुर, कमला नेहरू पार्क के पास, डेक्कन जिमखाना ), के ए कुरैशी (नि – मलकाजी वाड़ा, खड़की बाजार). अशोक शंकरराव जाधव (Ashok Shankarrao Jadhav) (नि – राजा बंगलो, खराड़ी ) और बापू गोरख शिंदे (Bapu Gorakh Shinde) (नि – नरहेगांव ) के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

इस मामले में निखिल केतन गोखले (Nikhil Ketan Gokhale) (उम्र 47, नि – मयूर कॉलोनी, कोथरुड ) ने शिकायत दर्ज कराई है।  यह घटना अप्रैल 2015 से 24 जुलाई 2019 के बीच शिवाजीनगर कोर्ट (Shivajinagar Court) गेट नंबर 3 के पास हुई।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसासर शिकायतकर्ता गोखले की शशिबिंदु कंस्ट्रक्शन (Shashibind Construction) नामक कंपनी है।  उनकी कंपनी के बोपोडी के कंस्ट्रक्शन की परमिशन गलत है।  इसे लेकर राजेश बजाज व अन्य ने मुंबई हाईकोर्ट (Mumbai High Court) में याचिका दायर की थी।  उस वक़्त तीनों ने 14 सितंबर 2016 को कोर्ट (Court) में एफिडेविट फाइल किया था।

इस एफिडेविट ने तीनों में 20 से 30 अगस्त तक राजेश बजाज को डेंगू हो गया और उसे डॉक्टर ने बेड रेस्ट के लिए कहा था।  साथ ही के ए कुरैशी को वायरल संक्रमण होने से सुनवाई के वक़्त हाज़िर होने में असमर्थता जताई थी।  तीनों दवारा पेश किये गए मेडिकल सर्टिफिकेट में बदलाव कर कंपनी व कोर्ट के साथ ठगी (Fraud) की।  इस याचिका को वापस लेने के लिए अगस्त 2018 में शिवाजीनगर कोर्ट गेट नंबर 3 में 1 करोड़ रुपए का हफ्ता मांगा।  गाली गलौज कर शिकायतकर्ता के साथ कंपनी को खत्म कर देने की धमकी दी।

ये चारों जान से मारने व कंपनी के कामकाज में अड़चन पैदा कर धमकी देकर शिकायतकर्ता के खिलाफ बेवजह कोर्ट में याचिका कर रहा था। इसके डर से शिकायतकर्ता ने शिकायत नहीं की थी।  लेकिन खुद के खिलाफ केस दर्ज होने के बाद शिकायतकर्ता ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कराया। इसके आधार पर चार लोगों के खिलाफ शिवाजीनगर पुलिस स्टेशन (Shivajinagar Police Station) में केस दर्ज किया गया है।

 

 

 

Pune Crime | नाबालिग लड़की के साथ दुर्व्यवहार, मां के साथ बलात्कार करने की दी धमकी

Pune Crime | नौकरानी के घर से 61 लाख का माल जब्त

You might also like

Comments are closed.