पुणे पुलिस ने छाजेड भाइयों को मुंबई से गिरफ्तार किया

पुणे : ऑनलाइन टीम – पुणे पुलिस के गुटखा-विरोधी अभियान के तहत गुजरात के वापी और दादर नगर हवेली सिल्व्हासा इन जगहों पर छापेमारी कर करीब 15 करोड़ रुपए से ज्यादा का गुटखा जब्त किया है। इस मामले में सिल्व्हासा फैक्ट्री में गुटखा बनाने के आरोप में मुंबई से छाजेड भाइयों को गिरफ्तार किया है। अब तक कुल 7 लोगों की गिरफ़्तारी हो चुकी है। पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

अभिषके सुरेंद्र छाजेड (31) और शरण सुरेंद्र छाजेड (26, नि. ग्रीन एकर, लोखंडवाला कॉम्पेक्स) गिरफ्तार किये गए दो भाइयों के नाम है। इसके अलावा अनुष्का ट्रांसपोर्ट के प्रदीप शर्मा, सुरक्षा व्यवस्थापक संतोषकुमार चौबे, मिथून नवले (नि. गणेशनगर), विकास कदम (रा. मांजरी), सतीश वाघमारे (रा. उंड्री) को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

सिल्व्हासा के गलोंडत्त गांव के एक फैक्ट्री में गुटखा का उत्पादन किया जाता है। इस जगह का मालिकाना हक गोवा गुटखा के मालिक जगदीश प्रसाद जोशी के पास है। जांच में पता चला की छाजेड भाइयों द्वारा इससे भाड़े में लिया गया है और वहां काशी व्हेंचर्स नाम पर कंपनी है।

पुणे पुलिस ने पिछले दो महीनों में 28 स्थानों पर छापे मारे की है। इस दौरान पुलिस ने बड़ी मात्रा में अवैध गुटखा जब्त किया है। आरोपियों से पूछताछ के दौरान पता चला कि गुटखा वापी और दादरा नगर हवेली से आ रहा था। पुलिस के मुताबिक, इन दोनों जगहों पर 15 करोड़ रुपये से ज्यादा का सामान जब्त किया गया। संतोष कुमार चौबे फैक्ट्री में सिक्योरिटी मैनेजर के पद पर कार्यरत है। चौबे द्वारा फैक्ट्री में बने गुटखे को कहां भेजा जाता है, इसकी पूरी जानकारी रखी गयी। जांच में पता चला कि वह यह जानकारी छाजेड़ भाइयों को भेजता था। बाद में पुलिस निरीक्षक रजनीश निर्मल, पुलिस उपनिरीक्षक जयदीप पाटील व उनकी टीम ने मुंबई के लोखंडवाला कॉम्पलेक्स में कार्रवाई कर दोनों भाइयों को गिरफ्तार किया। उन्हें अदालत में पेश किया गया। कोर्ट ने दोनों को न्यायालय हिरासत में भेज दिया है।

You might also like

Comments are closed.