Pune-Pimpri MSEDCL | ‘अंधेरे’ में डूब गया पुणे और पिंपरी चिंचवड़, बिजली के साथ जलापूर्ति व्यवस्था भी चरमराई

पुणे/पिंपरी।  महापारेषण (Pune-Pimpri MSEDCL) के लोनीकंद (Lonikand) और चाकण (Chakan) दोनों 400 केवी अल्ट्रा-हाई वोल्टेज सबस्टेशनों (Ultra-High Voltage Substation) को बिजली की आपूर्ति (Power Supply) करने वाली टावर लाइन बुधवार सुबह करीब 4.30 बजे 5 स्थानों पर ट्रिप हो गई। नतीजतन, कोथरुड, शिवाजीनगर, पुणे शहर, पिंपरी चिंचवड़ शहर के साथ-साथ चाकण एमआईडीसी, लोनीकंद, वाघोली क्षेत्र की बिजली आपूर्ति सुबह छह बजे से बाधित है। इसका असर पिंपरी चिंचवड़  (Pimpri Chinchwad) की जलापूर्ति व्यवस्था (Water Supply System) पर भी नजर आया। शहर में आज सुबह की जलापूर्ति नहीं हो सकी। दोपहर तक बिजली की आपूर्ति (Pune-Pimpri MSEDCL) सुचारू होने की शुरुआत हो गई।
महापारेषण  द्वारा इस बारे में जारी किए गए बयान के अनुसार भारी कोहरे और ओस के कारण टावर लाइन (Tower Line) क्षतिग्रस्त हो सकती है। साथ ही 400 केवी के दो महत्वपूर्ण हाई प्रेशर सबस्टेशन बंद होने के कारण वैकल्पिक बिजली आपूर्ति उपलब्ध नहीं करायी जा सकी। इस बीच एमएसईडीसीएल (MSEDCL) बिजली उपभोक्ताओं द्वारा पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से इसकी जानकारी प्रदान कर रहा है। टावर लाइन में खराबी का पता लगाने के लिए महापारेषण के सभी वरिष्ठ इंजीनियर इस समय युद्धस्तर पर कामों में लगे हैं। बिजली आपूर्ति बहाल होने में कम से कम तीन से चार घंटे का समय लग सकता है। सुबह साढ़े 11 बजे से बिजली आपूर्ति बहाल होनी शुरुआत हो गई थी। महापारेषण और महावितरण  (Pune-Pimpri MSEDCL) ने इस दौरान बिजली उपभोक्ताओं से सहयोग करने की अपील की है।

ट्रिपिंग का कारण कोहरा और ओस (Pune-Pimpri MSEDCL)

ठंड के चलते पुणे (Pune) और पिंपरी (Pimpri) में पारा गिरा है। समस्त जिले ठंडी की तीव्रता बढ़ गई है। महापारेषण के बयान के अनुसार घने कोहरे और ओस के कारण टावर लाइन टूटने की आशंका है। यह भी स्पष्ट किया गया कि दो महत्वपूर्ण 400 केवी अल्ट्रा हाई वोल्टेज सबस्टेशन बंद होने के कारण वैकल्पिक बिजली आपूर्ति उपलब्ध नहीं कराई जा सकी। इस बीच महावितरण ने कहा कि बिजली उपभोक्ताओं द्वारा पंजीकृत मोबाइल नंबरों पर एसएमएस (SMS) के माध्यम से भी सूचना भेजी जा रही है।

काम शुरू हुआ,लाइट कब आएगी?

टावर लाइन में खराबी का पता लगाने के लिए महापारेषण के सभी वरिष्ठ इंजीनियर इस समय युद्ध के मैदान में गश्त कर रहे हैं। महापारेषण ने कहा कि सभी जगहों पर बिजली आपूर्ति बहाल (Power Supply Restored) होने में कम से कम तीन से चार घंटे का समय लग सकता है। सुबह 11 बजे तक बिजली आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी। इस बीच महापारेषण और एमएसईडीसीएल ने बिजली उपभोक्ताओं से इस दौरान सहयोग करने की अपील की है। साथ ही पानी का कम से कम इस्तेमाल करने की अपील की है। सुबह छह बजे से बिजली नहीं है और बिजली का सारा काम ठप है। इसका झटका कई लोगों को लगा है और लोगों को भारी परेशानी उठानी

 

 

 

Pune School Update | पुणे में पहली से आठवीं की क्लास अब फुल डे- अजित पवार

Cast India | कास्ट इंडिया ! यह स्टार्टअप भारत का सबसे बड़ा क्रिएटिव नेटवर्क बना रहा है

You might also like

Comments are closed.