Loading...

जिले में शादियों की बारात का ‘पुणे पैटर्न’

Loading...

पिंपरी। संवाददाता – बदलते समय के अनुरूप बारात, साज- सज्जा, निमंत्रण पत्रिका, खर्च जैसे कारकों से शादियां अक्सर चर्चा में रही हैं। हालांकि पुणे जिले में बीते कुछ दिनों से बारात का एक अलग ही ‘पुणे पैटर्न’ चल पड़ा है। इसके चलते पुणे जिले की शादियां चर्चा में आयी है। ऐसी ही एक शादी जिले में चर्चा का विषय बनी है, जिसमें दूल्हे ने शादी के मंडप तक पहुंचने के लिए 75 हजार रुपए प्रति घन्टे के हिसाब से खर्च किए हैं।

Loading...
Loading...

बुधवार को आईटी पार्क हिंजवड़ी में एक शादी थी जिसमें दूल्हे ने अपनी दुल्हन तक पहुंचने के लिए 75 हजार रुपए प्रति घन्टे किराए पर हैलीकॉप्टर लिया था। इसी में सवार होकर उसने मावल से मुलशी तालुका तक का सफर तय किया और शादी के मंडप तक पहुंचा। अपने गांव में हैलीकॉप्टर आनेवाला है, यह मालूम रहने से गांव के बच्चे- बूढ़े सभी सुबह से ही उसके इंतजार में जुटे रहे। भीड़ का अंदाजा रहने से दूल्हे ने सुरक्षा कर्मियों की तैनाती भी कर रखी थी। इससे पहले भी बारामती में बुलेट पर सवार होकर एक दुल्हन के विवाह मंडप तक पहुंची थी। हैलीकॉप्टर से बारात भी निकली थी। कुल मिलाकर बारात का ‘पुणे पैटर्न’ ही चल पड़ा है।

मावल तालुका के डोणे गांव अशोक बबनराव वाडेकर का विवाह मुलशी तालुका निवासी पूजा देवकर के साथ बुधवार हिंजवडी के शिवपार्वती लॉन्स में बड़ी धूमधाम से संपन्न हुआ। एक किसान के परिवार से ताल्लुक रखनेवाले अशोक चाहते थे कि वे अपनी दुल्हन से मिलने हैलीकॉप्टर से जाएं। उनके घरवालों ने भी उनकी इच्छा का सम्मान किया। गांव में बैंडबाजा और शहनाई की धुन में बारात निकलने के बाद अशोक सुरक्षाकर्मियों के बीच हैलीकॉप्टर तक पहुंचे और फिर मुलशी तालुका स्थित आईटी पार्क हिंजवड़ी में विवाहस्थल तक पहुंचे। इसके लिए उन्होंने 75 हजार रुपए प्रति घन्टे किराए पर हैलीकॉप्टर बुक किया था। हैलीकॉप्टर से निकली बारात की पूरे पुणे जिले में चर्चा जारी है।

Loading...

Comments are closed.